मेरठ, जेएनएन : केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह ने बजट को दरिद्र नारायण की सेवा में समर्पित बताया है। कहा कि केंद्र सरकार ने गरीब, किसान, वंचित और पिछड़ों पर फोकस करते हुए उद्यमशीलता को भी नई ताकत दी है। एमएसएमई सेक्टर एवं बीमार इकाइयों को बजट के जरिए बूस्टर डोज दिया गया है।

दिल्ली जाते हुए रविवार दोपहर दो बजे शंकर आश्रम पहुंचे केंद्रीय सड़क परिवहन राज्यमंत्री ने कहा कि बजट के जरिए हर साल 20 लाख करोड़ रुपये की पूंजी जुटाकर आधारभूत ढांचे को नई ताकत दी जाएगी। यह पारदर्शिता को समर्पित बजट है, जिसमें कैशलेस इकोनॉमी का पूरा रोडमैप नजर आता है। उन्होंने कहा कि शिक्षा, रक्षा, स्वास्थ्य, रेल और परिवहन व्यवस्था को अपग्रेड करने के लिए सरकार ने कई कदम उठाए हैं। किसानों की आय दोगुनी करने से लेकर स्किल इंडिया के जरिए युवाओं को रोजगार देने के लिए कई बड़ी योजनाएं शुरू की गई हैं। केंद्रीय मंत्री ने स्पष्ट किया कि केंद्र सरकार मेरठ-दिल्ली-एक्सप्रेस वे को लेकर गंभीर है। इसे जल्द ही जनता की सेवा में समर्पित कर दिया जाएगा। आयोग पर भरोसा नहीं, फिर हो मतगणना : याकूब

मेरठ, जेएनएन : लोकसभा चुनाव में गठबंधन की ओर से बसपा प्रत्याशी रहे पूर्व मंत्री याकूब कुरैशी का कहना है कि चुनाव आयोग पर उन्हें भरोसा नहीं है। आयोग ने भाजपा के लिए काम किया। शासन के दबाव में भाजपा प्रत्याशी को जिताया गया है। उन्होंने हाईकोर्ट याचिका दाखिल करके पुनर्मतगणना की मांग की है। उन्होंने दोबारा मतदान की मांग की। मतगणना के दिन लोकतंत्र व चुनाव आयोग पर भरोसा जताकर भाजपा प्रत्याशी राजेंद्र अग्रवाल को बधाई देने वाले याकूब कुरैशी ने अब लंबे समय बाद सुर बदले हैं। तब उन्होने कहा था कि जीत हार होती रहती है, लेकिन अब आरोप लगा रहे हैं। पुनर्मतगणना की मांग को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप