मेरठ, जेएनएन। सदर बाजार पुलिस ने बीएसएफ जवान के बेटे को चरस की खरीदारी करते रंगेहाथ पकड़ लिया। वह और उसका एक साथी मछेरान में रहने वाले सौदागर तस्लीम से चरस की खरीदारी करने आए थे। दोनों नोएडा के कॉल सेंटर में काम करते हैं। पुलिस कॉल सेंटर की भी पड़ताल कर रही है। आशंका है कि कॉल सेंटर के जरिए ही नोएडा में बड़े पैमाने पर चरस सप्लाई की जाती है।

सदर बाजार के मछेरान में रहने वाला तस्लीम चरस का बड़ा सौदागर है। यूपी ही नहीं दूसरे राज्यों में भी वह चरस की सप्लाई देता है। सोमवार को सदर बाजार पुलिस ने तस्लीम से चरस की खरीदारी करने आए रोहटा रोड के नितिन और अरनावली के मोनू को पकड़ लिया। मोनू के पिता बीएसएफ में हेड कांस्टेबल हैं। सदर बाजार एसओ विजय गुप्ता ने बताया कि जानकारी मिली है कि दोनों आरोपित तस्लीम से चरस की खरीदारी करने के बाद नोएडा के कॉल सेंटर से ग्राहकों को सप्लाई करते हैं। कॉल सेंटर की आड़ में नोएडा में चरस का धंधा चल रहा है। पुलिस दोनों को हिरासत में लेकर चरस सप्लाई करने वाले पूरे गैंग की पड़ताल कर रही है। पुलिस ने आशंका जाहिर की है कि दोनों आरोपितों के अलावा कॉल सेंटर में अन्य युवक भी चरस की सप्लाई करते हैं। कई लोग कॉल सेंटर में भी चरस के आदी हो चुके हैं। मोनू और नितिन का कहना है कि सोमवार को कॉल सेंटर का अवकाश था इसीलिए चरस पीने के लिए तस्लीम के पास पहुंचे थे। उनका कहना है कि अक्सर छुट्टी के दिन चरस पीने के लिए तस्लीम के पास आते हैं।

ऐसे बने चरस के सौदागर

दोनों चरस की लत लगने के बाद तस्लीम के संपर्क में आ गए। तस्लीम ने मोनू और नितिन को बताया कि कॉल सेंटर में सप्लाई करने से उनका अपना और किराए का खर्च निकल जाएगा। उसी के लालच में आकर दोनों ने यह धंधा शुरू कर दिया था।

मोनू और नितिन को पुलिस ने तस्लीम के घर से रंगेहाथ पकड़ा है। दोनों कॉल सेंटर में चरस ले जाते हैं। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है।

-अखिलेश नारायण सिंह, एसपी सिटी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस