जागरण संवाददाता, मेरठ। गर्मी की छुट्टियां शुरू होने से पहले शहरवासियों को एक तोहफा मिलने वाला है। यह तोहफा होगा वेदव्यासपुरी स्थित जोनल पार्क में बोटिंग का। यहां तीन-चार बड़े फव्वारे भी चलते रहेंगे, जिससे यहां सैर का लुत्फ और बढ़ जाएगा।

वेदव्यासपुरी में एमडीए का लंबा-चौड़ा जोनल पार्क है। इसमें खस्ताहाल वॉटर बॉडी की सफाई कराने के बाद पानी भरा जा रहा है। गर्मी की छुट्टी शुरू होने से पहले इसमें बोटिंग शुरू हो जाएगी। पार्क में बड़ा कृत्रिम तालाब है, जिसमें कई बोट एक साथ खड़ी हो सकेंगी। इसमें बीच में फव्वारा भी लगाया जा रहा है। यही नहीं, पार्क के पास ही सीढि़यों से दर्शक दीर्घा तक पहुंचा जा सकता है, जहां बेंचों की व्यवस्था भी है। तालाब से बड़ी कैनाल निकाली गई है, जो पार्क की परिक्रमा करके फिर से तालाब में मिल जाती है। तालाब से होकर इस कैनाल से बोट गुजरेंगी। कैनाल पर कई स्थान पर स्टील के फुटओवर ब्रिज बनाए गए हैं। गौरतलब है कि इसमें कई साल पहले वाटर बॉडी, फाउंटेन बनाने के साथ ही विभिन्न कलात्मक प्रतिमाएं रखी गई थीं। सुंदर तरीके से पार्क विकसित किया गया था, लेकिन समय बीतने के साथ ही उसकी देखभाल में अनदेखी हुई और उस पार्क को उसके मकसद के अनुरूप नहीं संचालित किया जा सका। इसी कारण प्रतिमाएं टूट गई। वाटर बॉडी में गंदगी जमा हो गई, फाउंटेन कभी चला नहीं। आकर्षक हो गया पार्क, फूल-पौधों के बीच घूमिए

जोनल पार्क अब पूरी तरह संवर गया है। नए तरीके से फूल-पौधे लगाए गए हैं। मुख्य द्वार के पास फूल-पौधों से सजावट की जा रही है। पौधों को लगाने का कुछ सुझाव डा. योगी ऐरन दे गए थे, जिस पर थोड़ा ही अमल किया गया है। पेशे से चिकित्सक डा. योगी ऐरन वैसे तो इसे देहरादून में खुद बनाए गए जंगल-मंगल पार्क की तरह विकसित करना चाहते थे, मगर जब तत्कालीन कमिश्नर डा. प्रभात कुमार का स्थानांतरण हो गया तो एमडीए ने उनकी योजना को किनारे कर दिया। डा. प्रभात कुमार के निमंत्रण पर ही डा. योगी ऐरन ने इस पार्क को संवारने की शुरुआत की थी। इन्होंने कहा--

वेदव्यासपुरी स्थित जोनल पार्क में वाटर बॉडी पहले से ही है। उसमें इस बार बोटिंग कराई जाएगी। फव्वारा भी चलेगा। इसकी तैयारियां तेजी से चल रही हैं। पार्क को संवारा गया है, जिससे अब यह काफी आकर्षक बन गया है।

-साहब सिंह, वीसी, एमडीए

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस