सहारनपुर, जागरण संवाददाता। BKU Protest News तीन कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने तथा एमएसपी पर कानून बनाए जाने और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी की मांग को लेकर भारतीय किसान यूनियन ने सहारनपुर जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन कर धरना दिया। जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर धरने पर बैठे किसानों ने कहा कि पिछले एक वर्ष से तीन कृषि कानून निरस्त किए जाने व न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानून बनाये जाने की मांग को लेकर किसान सड़कों पर है।

लखीमपुर का मुद्दा भी उठाया

इसी माह तीन अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के जनपद लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में आयोजित किसान पंचायत से वापस आ रहे किसानों को वहां के स्थानीय सांसद व आपकी सरकार में गृह राज्य मंत्री अजय टेनी के निर्देश पर योजनाबद्ध तरीके से गाड़ी से कुचलकर मार दिया गया। जिससे पूरे देश का किसान व मजदूर आक्रोश में है। इस घटना के विरोध में जिला मुख्यालय पर आंदोलन कर अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों में भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष चौधरी विनय कुमार, चौधरी अशोक कुमार,चौधरी चरण सिंह, चौधरी रघुवीर सिंह, समेत सैकड़ों किसान मौजूद रहे।

ज्ञापन के माध्‍यम से रखीं ये मांगें

भारतीय किसान यूनियन ने प्रदर्शन के माध्यम से प्रधानमंत्री को संबोधित छह सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी को दिया जिसमें निम्न मागे की गई।

1- लखीमपुर खीरी की घटना के आरोपी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय टेनी की मंत्रिमंडल से बर्खास्तगी कर उनकी गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाय।

2- तीनों कृषि कानून को वापस किया जाय।

3- न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानून का दर्जा दिया जाय।

4- देशभर में बेमौसम बारिश व बाढ़ के कारण किसानों की धान, दलहन,तिल, आलू आदि की फसलों में भारी नुकसान हुआ है। किसानों के नुकसान का शत प्रतिशत मुवावजा दिया जाय।

5- देशभर में किसानों को फसलों की बुवाई हेतु खाद की जरूरत है,लेकिन देशभर में किसान खाद के लिए कतार में है। किसानों की खाद के लिए आत्महत्या की खबरें आ रही है। किसानों को बुवाई हेतु खाद उपलब्ध कराया जाय।

Edited By: Prem Dutt Bhatt