मेरठ : युवती ने अपना धर्म छिपाकर युवक से शादी कर ली। शादी के बाद उसने युवक पर भी धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया। पीड़ित ने थाने में तहरीर दी, लेकिन पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही।

गंगानगर थानाक्षेत्र के आजाद नगर कसेरूखेड़ा निवासी विक्रम ¨सह पुत्र जयपाल ¨सह टेंपो चालक है। करीब एक वर्ष पूर्व टेंपो में उसकी मुलाकात एक युवती से हुई। बकौल विक्रम, युवती ने खुद को वाल्मीकि समाज का बताया। गत 19 फरवरी को दोनों ने नोएडा के आर्य समाज मंदिर में ¨हदू रीति-रिवाज के अनुसार शादी कर ली। युवक के मुताबिक, शादी के बाद युवती ने खुद को ईसाई बताया और उस पर भी धर्म-परिवर्तन का दबाव बनाकर दोबारा चर्च में शादी करने की बात कही।

चार दिन पूर्व युवती के परिवार वालों ने धोखे से घर बुलाकर मारपीट की और ईसाई धर्म अपनाने पर पैसे और मकान आदि मिलने का लालच दिया। धर्म परिवर्तन नहीं करने पर युवती को उसके साथ नहीं भेजने की धमकी दी। आरोप यह भी है कि उसे घर में बुलाकर धोखे से गोमांस भी खिला दिया। युवक का कहना है कि वह एसएसपी तक शिकायत की लेकिन पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है।

--

विक्रम की शिकायत की मैंने खुद जांच की है। धर्म परिवर्तन का कोई मामला नहीं है। पुराने विवाद को लेकर युवती से झगड़ा चल रहा है। इसी कारण वह उस पर मुकदमा कराना चाहता है।

राकेश कुमार, इंस्पेक्टर थाना गंगानगर

उप्र में इस तरह के कई गिरोह हैं, जो ¨हदुओं का धर्म परिवर्तन करा रहे हैं। युवती व उसके परिवार के खिलाफ मुकदमा होना चाहिए।

बलराज डूंगर, बजरंग दल के प्रदेश संयोजक

Posted By: Jagran