मेरठ, जेएनएन। प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना को लेकर प्रदेश सरकार काफी गंभीर है और योजना के तहत ई-ग्राम स्वराज पोर्टल की शुरुआत की है। आधुनिक तकनीक से मानचित्र और सर्वेक्षण भी कराया जा रहा है। महत्वपूर्ण योजना होने के बाद भी अधिकारी लापरवाही बरत रहे हैं। ऐसे में सीडीओ ने डीपीआरओ को पत्र जारी कर सुधार करने व योजना का आगे बढ़ाने के लिए निर्देशित किया है।

समीक्षा में सामने आया कि माछरा के साथ मवाना, हस्तिनापुर और परीक्षितगढ़ विकास खंड के बीडीओ योजना को लेकर गंभीर नहीं हैं। इस कारण इन विकास खंड में योजना को गति नहीं मिल रही है। इसके अलावा इस संबंध में सीडीओ के पास शिकायत भी पहुंची। सीडीओ शशांक चौधरी ने बताया कि स्वामित्व योजना में कई लोगों की लापरवाही सामने आई है। इस पर डीपीआरओ को पत्र जारी कर सुधार कराने के लिए कहा गया है।

नाली में गोबर बहाने पर दो डेयरियों पर 10 हजार का जुर्माना

मेरठ : नाली व नाले में गोबर बहाने पर दो डेयरी संचालकों से 10 हजार रुपये का जुर्माना वसूला गया है। शाहपीर गेट स्थित भूरा की डेयरी का गोबर रोजाना नाले में बहाया जा रहा था। इसकी शिकायत पर औचक निरीक्षण किया गया। इस पर पांच हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया। दूसरी कार्रवाई पटेल नगर में हुई। यहां पर सोनू की डेयरी का गोबर नाली में बहाया जा रहा था। इनसे भी पांच हजार रुपये वसूले गए। खाद्य एवं सफाई निरीक्षक रवि शेखर ने बताया कि कार्रवाई लगातार जारी रहेगी। डेयरी संचालक गोबर नाली व नाले में बहाने के बजाय उसका खाद बनाने में उपयोग करें या फिर उसका अन्य तरीके से निस्तारण करें।

Edited By: Jagran