मेरठ, जेएनएन। विधानसभा चुनाव में बैंक अपने ब्रांच से होने वाले बड़े लेनदेन पर खास निगरानी रख रहे हैं। ब्रांच से लेकर आनलाइन लेनदेन पर बैंक के अधिकारी और कर्मचारी सजग हैं। खासकर दो लाख रुपये या उससे अधिक निकासी पर संबंधित ग्राहक की आंतरिक रिपोर्ट भी तैयार की जा रही है। संदेह होने पर संबंधित ग्राहक से लेनदेन से संबंधित डाक्यूमेंट भी मांगी जा रही है।

बैंक पिछले एक माह में खुले नए बैंक खाते से 50 हजार से अधिक की निकासी पर भी खास नजर रख रहे हैं। नए खाते से लगातार आनलाइन ट्रांजेक्शन या कैश निकासी होने पर पूछताछ भी की जा रही है। एक बैंक के अधिकारी ने बताया कि जो भी खाता संदिग्ध लग रहा है, उससे कैश जमा और निकासी के विषय में दस्तावेज भी मांगा जा रहा है। अगर कोई ऐसा नहीं करता है तो बैंक ऐसे खाते के संचालन पर रोक भी लगा सकता है। वहीं जो पुराने बैंक खाते हैं, उसमें भी इस समय अगर दो लाख रुपये से अधिक की लेनदेन हो रही है। तो संबंधित खाताधारक की जानकारी हासिल की जा रही है। बैंक की ओर से यह भी देखा जा रहा है कि चुनाव की वजह से कोई अलग-अलग खाते से पैसे को ट्रांसफर तो नहीं कर रहा है। बैंक जहां सभी बड़े लेनदेन की आंतरिक सिस्टम से निगरानी रख रहा है। वहीं, आयकर विभाग भी समय समय पर सभी बैंकों से इस तरह की इनपुट ले रहा है।

- - - - - - - - - - - - - - -

Edited By: Jagran