बुलंदशहर, जेएनएन। गांव भटौना के ताडला पर नए कृषि कानून के विरोध में भाकियू टिकैत संगठन के पदाधिकारियों ने पंचायत की। साथ ही पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में केंद्रीय राज्यमंत्री संजीव बालियान के काफिले को काले झंडे दिखाकर भाजपा और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। केंद्रीय राज्यमंत्री के विरोध की सूचना को लेकर पुलिस प्रशासन सतर्क रहा। शुक्रवार को एसडीएम सिकंदराबाद रविशंकर व सीओ नमृता श्रीवास्तव भारी पुलिस फोर्स के साथ पंचायत में मौजूद रहे। वहीं एडीएम प्रशासन रविंद्र कुमार व एसपी सिटी सुरेंद्र नाथ तिवारी भी थाने पर कैंप किए रहे।

अधिकारियों ने भाकियू पदाधिकारियों को समझाने का प्रयास किया लेकिन उन्होंने विरोध जारी रखा। पुलिस फोर्स की मौजूदगी में भाकियू पदाधिकारियों ने संजीव बालियान वापस जाओ, केंद्र सरकार डरती है पुलिस को आगे करती है, भाजपा मुर्दाबाद, संजीव बलियान मुर्दाबाद के नारे लगाकर प्रदर्शन किया। इस बीच गांव भटौना में किसान चौपाल में भाग लेने जा रहे केंद्रीय राज्यमंत्री संजीव बालियान को भाकियू कार्यकर्ताओ ने काले झंडे दिखाकर विरोध जताया। भाकियू ने मांग की है कि एमएसपी पर कानून बने, तीनों कानून को सरकार वापस ले तथा किसानों का गन्ने का पेमेंट दिलाया जाए। जिसको लेकर उन्होंने एसडीएम सिकंदराबाद को ज्ञापन सौंपा। किसान नेता मनवीर सिंह, तहसील अध्यक्ष रोहताश सिंह, सुरेशपाल सिंह, जीत सिंह, जयभगवान यादव, चतर सिहं, वेदपाल सिंह, राजकरन, अशोक सिरोही आदि किसान मौजूद रहे।

इन्होंने कहा

विरोध करने वाले भी लोग अपने है। अगर वे आकर मुझसे संवाद करते तो उसका जवाब जरूर देता।

- संजीव बालियान, केंद्रीय राज्यमंत्री।

Edited By: Taruna Tayal