मेरठ,जेएनएन। आगरा में एक लाख के इनामी बदन सिंह के मुठभेड़ में मारे जाने की घटना दिनभर मेरठ में चर्चा का विषय बनी रही। अफवाह उड़ गई कि मेरठ निवासी ढाई लाख का इनामी बदमाश बदन सिंह बद्दो मुठभेड़ में ढेर हो गया है। पुलिस अफसरों के पास लगातार काल आने पर आगरा में संपर्क किया गया। तब सच्चाई का पता चला।

आगरा में डाक्टर को अगवा कर पाच करोड़ की फिरौती मागने वाले बदमाश बदन सिंह को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया। एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि उनके पास भी बदन सिंह बद्दो के एनकाउंटर की काल दिल्ली से आई। सभी समझ रहे थे कि आगरा में मेरठ का बदमाश बदन सिंह बद्दो मारा गया है। लेकिन वह महज अफवाह थी। बता दें कि बदन सिंह बद्दो जेल से पेशी के दौरान फरार हो गया था। दो साल बाद भी उसका कोई पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने उसकी फरारी में सहयोग करने वाले लोगों पर भी कार्रवाई कर दी है। उसकी कोठी को भी जमींदोज कर दिया है।

जीजा ने डंडा मारकर साली का सिर फोड़ा : लालकुर्ती थाना क्षेत्र के पीएल शर्मा रोड निवासी वंदना पुत्री घनिराम के मुताबिक उन्होंने अपनी बहन निशा का विवाह करीब दो साल पहले नौचंदी थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर निवासी केशव कुमार से किया था। शादी के बाद से ही ससुरालियों ने विवाहिता को प्रताड़ित करना शुरु कर दिया था। जिस वजह से दोनों परिवारों के बीच पंचायत हुई थी। उसके बाद भी उन्होंने परेशान करना बंद नहीं किया। तीन दिन पहले निशा से केशव कुमार मारपीट कर रहा था। सूचना पर वंदना और घनिराम पहुंच गए। आरोप है कि कहासुनी के बाद केशव ने वंदना के डंडा मार दिया और फरार हो गया। एसपी क्राइम राम अर्ज का कहना है कि नौचंदी थाना प्रभारी प्रेमचंद्र शर्मा को मामले में जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए है।