मुजफ्फरनगर, जागरण संवाददाता। शाहपुर पुलिस ने अवैध असलाह फैक्ट्री का भंड़ाफोड़ करते हुए चार लोगों को दबोचा है। मौके से बड़ी संख्या में बने-अधबने असलाह बरामद किए हैं। दो आरोपित फरार हैं।

पुलिस ने की खंडहर पर छापेमारी

पुलिस लाइंस में आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी देहात अतुल श्रीवास्तव ने बताया कि शाहपुर पुलिस ने बसी नहर पर सिंचाई विभाग के खंडहर पर छापेमारी की। पुलिस ने मौके से चार लोगों को दबोच लिया, जबकि दो आरोपित फरार हो गए। पकड़े गए आरोपितों ने अपने नाम जावेद पहलवान और हसमत निवासी मांडी थाना तितावी, सुलेमान निवासी गोलकुआं मेरठ और इरफान निवासी गांव तावली शाहपुर बताए। खुरशैद और मुश्ताक निवासी मांडी फरार हो गए। टीम ने मौके से पांच देशी पिस्टल, दो तमंचे, बड़ी संख्या में नाल, ट्रिगर समेत असलाह बनाने के उपकरण बरामद किए हैं। एसपी देहात ने बताया कि हशमत के खिलाफ शाहपुर, तितावी और सिविल लाइंस में विभिन्न मामलों के मुकदमे दर्ज हैं, जबकि इरफान के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट समेत आधा दर्जन मुकदमे दर्ज हैं।

गला दबाकर की गई थी किसान की हत्या

मुजफ्फरनगर, जागरण संवाददाता। मीरापुर क्षेत्र में खेत में पानी चला रहे किसान की हत्या के मामले में मृतक के पुत्र ने तीन हत्यारोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किसान की मौत गला घुटने से होना आया है। मंगलवार को खेड़ी सराय गांव निवासी किसान ऋषिपाल पुत्र नाहर सिंह अपने खेत में पानी चला रहा था। जहां पर उसकी हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस मामले में मृतक के पुत्र सचिन की तहरीर पर मेरठ जनपद के बहसूमा थाने के बटावली गांव निवासी विक्की पुत्र जयकार, जयकार पुत्र धर्मपाल तथा हैप्पी पुत्र बल्लभ के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस हत्यारोपितों की गिरफ्तारी को ताबड़तोड दबिश दे रही है। इंस्पेक्टर दिनेश कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ऋषिपाल की मौत गला दबाकर होने से आई है। जल्द ही हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

 

Edited By: Parveen Vashishta