मेरठ, जेएनएन। स्‍कूलों को पूरी तरह से खोलने को लेकर कई तरह की बाते सामने आ रही हैं। इसी बीच प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा का आदेश जारी किया है कि छह जुलाई से स्‍कूल खुलेंगे लेकिन शिक्षकों की ही आवाजाही रहेगी। इसके बाद शनिवार को सीबीएसई स्कूलों का संगठन मेरठ स्कूल सहोदय काम्प्लेक्स और यूपी बोर्ड के वित्तविहीन स्कूलों के संगठन वित्तविहीन शिक्षक महासभा ने संयुक्त बैठक की। बैठक के बाद आयोजित ई-प्रेस वार्ता में सहोदय पदाधिकारियों ने कहा कि इस सत्र में दाखिले की प्रक्रिया पूरी करने के लिए छात्र-छात्राओं का पूरा डाटा होना जरूरी है। इसलिए सभी स्कूलों के अभिभावक 15 जुलाई तक अपने बच्चों के स्कूल में दाखिले की पुष्टि जरूर कर दें।

जो स्‍कूलों नहीं पढ़ना चाहते वह भी दे सूचना

साथ ही यह भी कहा कि जो स्कूल इस सत्र में नहीं पढ़ाना चाहते हैं वह भी बता दें और जो लोग टीसी कटवाना चाहते हैं वह भी स्कूल को जरूर सूचित करें। कक्षा नौवीं से 12वीं तक के बच्चों का डाटा सीबीएसई को भेजना होता है। इसके लिए सभी के विवरण होने चाहिए। वहीं यूपी बोर्ड में भी कक्षा नौवीं व 11वीं के छात्रों का अग्रिम पंजीकरण और 10वीं व 12वीं के छात्रों के बोर्ड परीक्षा फीस जमा किए जाने हैं। इसके अलावा फीस को लेकर भी शासन से भी ट्रांसपोर्ट शुल्क के अलावा किसी शुल्क में छूट नहीं दी गई है।

इस दिन से जमा करा सकते हैं फीस

सहोदय के अनुसार वेतन भोगी स्वजनों के अलावा अब व्यापार भी खुलने लगे हैं। जो माता-पिता फीस जमा करा सकते हैं जमा कराएं और बच्चे का एडमिशन सुनिश्चित करें। वहीं जो फीस देने में असमर्थ हें वह भी जरूर आवेदन करें। उनके लिए आगामी महीनों में किस्तों में फीस जमा कराने की सुविधा दी जाएगी। लेकिन 15 जुलाई तक वह भी बच्चों का एडमिशन कनफर्म कर दें जिससे बच्चों को इस सत्र की सूची में शामिल किया जा सके। बच्चों की संख्या के अनुरूप ही शिक्षकों की अतिरिक्त नियुक्ति भी की जाएगी। स्कूल में बच्चों के लिए किताबें मुहैया कराई जाएंगी जिससे ऑनलाइन क्लास में पढ़ाई और बेहतर हो सके। 

Posted By: Prem Bhatt

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस