मेरठ, जेएनएन। मोदीपुरम के कंकरखेड़ा के डाबका गांव में 21 जुलाई को बकरीद पर परंपरा विरुद्ध भैंस की कुर्बानी करने के मामले में पुलिस ने शनिवार को कार्रवाई की। पुलिस ने तीन मुख्य आरोपितों के साथ 31 लोगों पर पांच-पांच लाख रुपये के मुचलके पाबंद को एसीएम कोर्ट में प्रार्थना पत्र दाखिल किया है।

बकरीद पर डाबका गांव निवासी रहमत के घर पर भैंस की कुर्बानी हुई थी। हिदू समाज के लोगों ने कुर्बानी का विरोध करते हुए रहमत के घर के बाहर विरोध किया था। पुलिस ने भीड़ को समझाकर शांत किया था। ग्रामीणों का कहना था कि गांव के इतिहास में आज तक कुर्बानी नहीं हुई है, ऐसे में नई परंपरा शुरू नहीं होने दी जाएगी। गांव में तनाव उत्पन्न हो गया था। मामले में पुलिस ने अपनी ओर से रहमत, रहमत के पुत्र होमगार्ड जवान सरताज, नईम पुत्र फईम को मुख्य आरोपित बनाते हुए कार्रवाई की थी। अब तीनों आरोपितों के साथ रहमत के 31 पड़ोसियों पर भी शांति व्यवस्था भंग करने की कार्रवाई के साथ पांच-पांच लाख रुपये मुचलका पाबंद को एसीएम कोर्ट में फाइल दाखिल की है। वहीं, शनिवार सुबह हिदू समाज के लोग थाने पहुंचे और सख्त कार्रवाई की मांग की। दोपहर बाद मुस्लिम समाज के लोग भी थाने पहुंचे और भविष्य में ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न करने का शपथ पत्र देने को कहा, मगर पुलिस ने इन्कार कर दिया। इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर का कहना है कि माहौल खराब करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। तीनों मुख्य आरोपित फरार हैं। उनकी जल्द ही गिरफ्तारी होगी।

Edited By: Jagran