सहारनपुर, जागरण संवाददाता। एटीएस के सरकारी गवाह नितिन पंत प्रकरण में गुरुवार को नया मोड़ आ गया। अब साध्वी सविता जमुनादास ने नितिन पंत और उनके गुरु निपुण भारद्वाज के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। नितिन पंत ने बुधवार को एसएसपी को तहरीर देते हुए साध्वी पर आरोप लगाए थे। साध्वी ने आरोप बेबुनियाद बताए थे।

यह है मामला

नैनीताल के तल्लीताल निवासी नितिन पंत का राजस्थान में मतांतरण कराया गया था और उसे मौलाना कलीम के फुलत मदरसे में भी रखा गया था। कलीम की गिरफ्तारी के बाद नितिन पंत को एटीएस लखनऊ ने सरकारी गवाह बनाया है। नितिन सहारनपुर में आश्रम में रहता है। बुधवार को निपुण भारद्वाज के साथ नितिन पंत ने एसएसपी को तहरीर देकर आरोप लगाया था कि साध्वी सविता जमुनादास उस पर दबाव बना रही है कि उसे मौलाना कलीम के खिलाफ गवाही नहीं देनी है। बात न मानने पर धमकी दी थी। एसएसपी ने जांच के बाद कार्रवाई की बात कही थी। 

साध्‍वी ने लगाया आरोप

गुरुवार को साध्वी सविता जमुनादास एसएसपी आफिस पहुंचीं और नितिन पंत और उसके गुरु निपुण भारद्वाज के खिलाफ तहरीर दी। साध्वी का आरोप है कि निपुण भारद्वाज ने उन्हें विश्व अखाड़ा परिषद पश्चिम उत्तर प्रदेश का अध्यक्ष बनाने के नाम पर 31 हजार रुपये लिए थे। अब रुपये वापस मांगने पर निपुण भारद्वाज नितिन पंत को मोहरा बनाकर उन्हें बदनाम कर रहा है। एसएसपी डा. एस चन्नपा का कहना है कि दोनों की तहरीर ले ली गई है। जांच में जो सामने आएगा उसी के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। 

Edited By: Taruna Tayal