मेरठ (जेएनएन)। देश के सिनेमाघरों में आने से पहले ही सुर्खियों में आई पद्मावती फिल्म ने बवंडर खड़ा कर दिया है। गुरुवार को मेरठ में समाजवादी पार्टी से जुड़े ठाकुर अभिषेक सोम ने इस फिल्म की अभिनेत्री दीपिका पादुकोण का सिर कलम करके लाने पर पांच करोड़ के इनाम की घोषणा की है।

 

इस बीच फिल्म को लेकर पूर्वांचल छात्र संघर्ष समिति के बैनर तले कई जिलों में संजय लीला भंसाली का पुतला दहन, जुलूस आदि के जरिए विरोध प्रदर्शन किया गया। उल्लेखनीय है कि फिल्म पद्मावती में इतिहास से छेड़छाड़ करने पर भीषण आक्रोश व्याप्त है। इसको लेकर फिल्म निर्माता, नायक और नायिका के खिलाफ गुस्सा सड़कों पर आ गया है।

 

करणी सेना के संरक्षक लोकेंद्र सिंह कालवी ने गुरुवार को प्रेसवार्ता में कहा कि यह महिला अस्मिता का मुद्दा है। उन्होंने एक दिसंबर को भारत बंद का एलान किया और कहा कि यदि फिल्म रिलीज हुई तो राजपूत उसका पूरा विरोध करेंगे। राजपूत अपना खून बहाने से भी पीछे नहीं हटेंगे। 

 

किसी कीमत पर फिल्म रिलीज नहीं होगी

उधर दीपिका पादुकोण का सिर कलम करने का फरमान जारी करने वाले अभिषेक ने नया बखेड़ा खड़ा कर दिया है। मेरठ के ठाकुर चौबीसी सरधना क्षेत्र के गांव कालंदी के रहने वाले अभिषेक फिलहाल शास्त्रीनगर में रहते हैं।

फिल्म में बाजार में गाना गाती रानी को दिखाया गया है जो कि क्षत्रिय समाज की किरकरी है। फिल्म के निर्माता और निर्देशक संजय लीला भंसाली पर निशाना साधते हुए अभिषेक ने कहा कि सरकार भी इनकी रक्षा कर रही है। उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत पर फिल्म को सिनेमाघरों में रिलीज नहीं होने दिया जाएगा। 

 

क्षत्रिय महासभा ने नकारा

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के जिलाध्यक्ष ठाकुर कुलदीप तोमर का कहना है कि ऐसे बयान से न तो वे और न ही उनका संगठन नाता रखता है, लेकिन फिल्म को सिनेमाघरों में रिलीज नहीं होने देंगे। फिल्म में राजपूत समाज के खिलाफ कई सीन किए गए हैं। जिससे क्षत्रिय समाज में गुस्सा है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप