मेरठ,जेएनएन। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक के निर्देश पर मेरठ समेत डिस्कॉम के सभी 14 जिलों में मार्निग रेड अभियान चलाया गया। एक दिन में 4882 कनेक्शन में विद्युत चोरी और अनियमितता पकड़ी गई। इनसे संबंधित उपभोक्ताओं के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई गई है। इस कार्रवाई से उपभोक्ताओं में हड़कंप मच गया है।

पीवीवीएनएल के अंतर्गत मेरठ सहित सभी जिलों में सुबह पांच बजे मार्निग रेड शुरू हुई। जिसकी कार्रवाई दोपहर दो बजे तक चली। विभागीय अधिकारियों की टीमों ने डिस्कॉम के अंतर्गत कुल 12267 कनेक्शन चेक किए। जिसमें 4882 कनेक्शन पर विधुत चोरी और अनियमितता पकड़ी गई। इनमें से 3022 प्रकरणों में धारा-135 एवं 1857 प्रकरणों में धारा-138 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कराया गया है। जिसमें से एंटी थेफ्ट विधुत थानों में 1660 विधुत चोरी के मुकदमे दर्ज हुए हैं।

मेरठ में 527 कनेक्शनों में पकड़ी विद्युत चोरी

मेरठ में प्रबंध निदेशक आशुतोष निरंजन के नेतृत्व में जैदी रोड, पुराइलाहीबक्स, भगवत पुरा, खत्ता रोड, जली कोठी, मकबरा, गुदड़ी बाजार एवं भूसा मंडी आदि स्थानों पर मॉर्निंग रेड की गई। 572 लोग विद्युत चोरी करते पकड़े गए। मॉर्निंग रेड के दौरान मुख्य अभियंता एस बी यादव, मुख्य अभियंता वाणिज्य संजय आनंद जैन, अधीक्षण अभियंता अरुण कुमार पाठक भी मौजूद रहे।

वाटर प्लांट में विजिलेंस का छापा

वहीं, हापुड़ में अधिशासी अभियंता रेड, धीरेंद्र कुमार के नेतृत्व में बाबूगढ़ में छापेमारी की गई। दो वाटर प्लांट व एक डेयरी में भी बिजली चोरी पकड़ी गई है। मीटर उतारकर जांच के लिए भेजे गए हैं। वहीं, दो स्थानों पर अलग-अलग 24 ई-.रिक्सा चोरी से चार्जिंग होते पकडे़ गए।

वर्जन:--

विधुत चोरी गंभीर अपराध है। प्रदेश सरकार के निर्देश हैं। विद्युत चोरी पर सख्ती से निपटा जाएगा। इसी कड़ी में मॉर्निग रेड की गई। डिस्कॉम के सभी जिलों में जिला और पुलिस प्रशासन का विशेष सहयोग रहा। जिससे इतने बड़े पैमाने पर विद्युत चोरी पकड़ी गई है। यह अभियान जारी रहेगा।

-आशुतोष निरंजन, प्रबंध निदेशक, पीवीवीएनएल।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप