मेरठ,जेएनएन। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव लड़ने वालों को रविवार को लाकडाउन के दिन चुनाव चिन्ह आवंटित किए गए। जिला पंचायत के 33 वार्डो के लिए 64 लोगों ने अपने नामांकन पत्र वापस ले लिए। 8 नामांकन पत्र शनिवार को खामियों के चलते निरस्त कर दिए गए थे। कुछ प्रत्याशियों ने दो या उससे ज्यादा भी नामांकन किए अब जिला पंचायत के चुनावी रण में 451 प्रत्याशी ही बचे हैं। ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य तथा क्षेत्र पंचायत सदस्य पदों के लिए भी बड़ी संख्या में लोगों ने नामांकन पत्र वापस लिए हैं। चुनाव चिन्ह मिलते ही धुआंधार प्रचार शुरू हो गया है। नामांकन केंद्र में हंगामा, शाम छह बजे तक मिले चुनाव चिन्ह

एसडीएम सदर कोर्ट में बनाए गए नामांकन केंद्र में शाम तीन बजे से चुनाव चिन्ह का आवंटन किया जाना था लेकिन चुनाव चिन्ह आवंटन का कार्य शुरू नहीं हो सका। चार बजे प्रत्याशियों के धैर्य जवाब दे गया। प्रत्याशियों ने कोर्ट रूम में घुस कर हंगामा किया और एआरओ तथा कर्मचारियों से उलझ गए। आरोप है कि वार्ड 13 से भाजपा प्रत्याशी को पहले ही चुनाव चिन्ह बता दिया गया है। उन्होंने फेसबुक के माध्यम से प्रचार भी शुरू कर दिया है। हंगामे पर एडीएम प्रशासन मदन सिह गब्र्याल पहुंचे। लोगों को को समझाकर कोर्ट रूम से बाहर निकाला। एआरओ अनिल कुमार ने स्टाफ की कमी को विलंब का कारण बताया तो एडीएम प्रशासन ने अपने कार्यालय का स्टाफ लगाकर चुनाव चिन्ह का आवंटन कार्य शुरू कराया। शाम छह बजे के बाद तक चुनाव चिन्ह आवंटन का कार्य पूरा हुआ। 12 वार्डों में 15 से ज्यादा प्रत्याशी

जिला पंचायत के 33 वार्डों में से 12 वार्ड ऐसे हैं जिनमें 15 से ज्यादा प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं, जबकि किसी भी वार्ड में सबसे कम प्रत्याशियों की संख्या 08 है। आठ प्रत्याशी तीन वार्डों में हैं। जिला पंचायत में वार्डवार प्रत्याशियों की संख्या

वार्ड संख्या वापस हुए नामांकन वैध प्रत्याशी

01 02 09

02 00 08

03 02 14

04 02 20

05 00 16

06 02 08

07 01 15

08 00 12

09 00 12

10 01 08

11 02 16

12 03 16

13 04 20

14 03 10

15 04 13

16 03 14

17 03 12

18 02 12

19 04 17

20 02 12

21 04 17

22 00 18

23 03 12

24 01 10

25 01 11

26 01 10

27 00 17

28 05 12

29 02 14

30 04 20

31 02 19

32 01 16

33 00 11

कुल 64 451

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप