मेरठ, जेएनएन। कोरोना टीकाकरण के आठवें चरण में गुरुवार को 57.3 फीसद टीकाकरण रहा। नगर निगम के कर्मचारियों ने एक बार फिर उदासीनता दिखाई। वहीं गुरुवार को 4563 सैंपलों की जांच में महज तीन में वायरस मिला है।

सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि गुरुवार को 48 बूथों पर टीकाकरण हुआ। 6880 लोगों के सापेक्ष 3940 फ्रंटलाइन वर्करों ने टीका लगवाया। 11 फरवरी को टीकाकरण से छूटे लोगों के लिए 16 बूथ लगाए गए, जिस पर 1752 लोगों के सापेक्ष 1072 ने कोविशील्ड का टीका लगवाया। यहां 61 फीसद टीकाकरण रहा। 272 वायल की खपत हुई। कोवैक्सीन का आंकड़ा हमेशा की तरह कमजोर रहा है। 32 बूथों पर 5128 लोगों को टीका लगना था, लेकिन 55.9 फीसद फ्रंटलाइन वर्कर ही पहुंचे।

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक 3014 लोग टीकाकरण से दूर रहे। इसमें 1485 फ्रंटलाइन वर्कर शहर से बाहर थे। 974 लोगों ने गलत फोन नंबर भरा था। 258 लोगों का नंबर डुप्लीकेट हो गया। 233 लोगों ने बीमारी की वजह से वैक्सीन लगवाने से मना कर दिया। सीएमओ ने बताया कि पुलिस विभाग के 4236 लोगों में से 2097 और नगर निगम के 1960 में से 721 ने वैक्सीन ली। नगर निगम का टीकाकरण लगातार कमजोर बना हुआ है।

तीन मिले संक्रमित

कोरोना संक्रमण को लेकर जिले में लगातार राहत का माहौल है। गुरुवार को 4563 सैंपलों की जांच में महज तीन में वायरस मिला। 1058 सैंपलों की रिपोर्ट प्रतीक्षारत है। 15 मरीज होम आइसोलेशन में इलाज ले रहे हैं। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि टारगेटेड सैंपलिंग के अंतर्गत 2398 सैंपल लिए गए थे, जिसमें 1419 की एंटीजन और 979 की आरटी-पीसीआर जांच की गई। कोई भी व्यक्ति पाजिटिव नहीं मिला। मेडिकल कालेज के डा. तरुण पाल ने बताया कि गुरुवार शाम तक कोविड वार्ड में एक कोरोना मरीज रह गए हैं। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021