बागपत, जागरण संवाददाता। Riot control rehearsal बागपत में पुलिस लाइन में एक बार फिर दंगा नियंत्रण रिहर्सल (माक ड्रिल) का आयोजन किया गया। पुलिसकर्मियों को विषम परिस्थितियों में भीड़ के बीच खुद को सुरक्षित रखते हुए कानून-व्यवस्था बनाए रखने के गुर सिखाएं गए। बागपत में कई बार ऐसी स्थिति उत्पन्न हो चुकी हैं, कि जब पुलिस व पब्लिक आमने-सामने आई। ग्राम काठा में नाव हादसे के बाद बवाल हुई था। गुस्साई भीड़ ने पथराव कर महिला हेल्प लाइन की गाड़ी आग लगा दी थी। तत्कालीन कोतवाली प्रभारी दिनेश कुमार समेत कई पुलिसकर्मी घायल हुए थे। अफसरों ने दौड़कर अपनी जान बचाई थी।

परेड की सलामी लेकर निरीक्षण

इसके अलावा भी कई स्थानों पर पुलिस कर्मी चोटिल हुए। इस तरह की आगे कोई घटना न हो पाए, इसके लिए पुलिस अफसर गंभीर है। एसपी नीरज कुमार जादौन ने शुक्रवार की परेड की सलामी लेकर निरीक्षण किया। उसके बाद दंगा नियंत्रण रिहर्सल कराया गया। बताया गया कि पुलिस अपने पास सुरक्षा के उपकरण रखें। आधी अधूरी तैयारी के साथ कोई न जाएं। दंगा नियंत्रण के लिए पुलिस की दस पार्टियां तैनात रहती है।

दिए गए आवश्‍यक निर्देश

सबसे पहले एलआइयू पार्टी को भेजा जाता है। फिर सिविल पुलिस पार्टी, घुड़सवार पुलिस पार्टी, फायर सर्विस पार्टी, आंसू गैस पुलिस पार्टी, लाठी-डंडा पुलिस पार्टी,फायरिंग पुलिस पार्टी, फर्स्ट एड पुलिस पार्टी, फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी पुलिस पार्टी को रवाना किया जाता है। इस दौरान बेहद सतर्कता बरतनी चाहिए, ताकि जनहानि न हो पाए। पुलिस कर्मियों ने सभी का अभ्यास किया। एसपी ने निरीक्षण कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस मौके पर एसपी नीरज कुमार जादौन ने कहा कि कमियों को करें दूर एसपी ने पुलिस लाइन में क्वार्टर गार्ड आदि का बारिकी से निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को कमियों को दूर करने के आवश्यक निर्देश दिए हैं।

Edited By: Prem Dutt Bhatt