मेरठ, जेएनएन। किसान अगर अच्छी पैदावर चाहते हैं तो बीज की गुणवत्ता और उसके भंडारण पर विशेष ध्यान देना चाहिए। सरदार वल्ल्भ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डा. आरएस सेंगर ने बताया कि बीज का भंडारण ठंडे व सूखे स्थान पर करना उचित है क्योंकि अधिक तापमान पर रखने से कृमिकों को एवं कीटों का प्रकोप होने की आशंका बढ़ जाती है।

बीज को फर्श के ऊपर लकड़ी के पट्टों पर इस तरह रखें इससे बीज में हवा का आदान-प्रदान ठीक से होता रहे। पट्टों के ऊपर बीज को एक हजार गेज की पालीथीन की चादर या बांस की चटाई पर रखना चाहिए ताकि इनमें नमी प्रवेश न करे। डा.सेंगर ने बताया कि किसानों को अपने बीज को सुरक्षित रखने का भरपूर प्रयास करना चाहिए। शोधन उपचार के बाद ही बीज को भंडारण कक्ष में रखना चाहिए।

बीज को उपचार करने के लिए एलमुनियम फास्फाइट नामक रसायन की 9 ग्राम मात्रा प्रति टन बीज के हिसाब से प्रयोग चाहिए। इस प्रकार यदि बीज को उपचारित करके उसका सुरक्षित भंडारण किया जाता है तो निश्चित रूप से आगामी फसल के लिए अच्छा होगा। बीजों अच्छा अंकुरण होगा जिससे कि किसानों का उत्पादन बढ़ेगा। बीज में आठ से 10 प्रतिशत से अधिक नमी नहीं होनी चाहिए।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप