मेरठ, [अमित तिवारी]। Young Achievers कामनवेल्थ गेम्स आस्ट्रेलिया में निशानेबाजी में रिकार्ड बनाने और पिछले एशियन गेम्स में देश का पहला जीतने वाले मेरठ के निशानेबाज रवि कुमार ने दुनिया भर में अपने हुनर का परचम लहराया है। वर्तमान में अगली राष्ट्रीय शूटिंग प्रतियोगिताओं की तैयारियों में जुटे शूटर रवि कुमार ने साल 2013 से अब तक एशियन चैंपियनशिप, वर्ल्‍ड चैंपियनशिप, वर्ल्‍ड कप, ग्रांड प्रिक्स, कामनवेल्थ गेस सहित तमाम अंतरराष्ट्रीय शूटिंग चैंपियनशिप का हिस्सा रहे हैं। इंडियन एयरफोर्स में वारंट अफसर के तौर पर कार्यरत शूटर रवि का निशाना भी भारतीय वायु सेना के अचूक वार की तरह की सटीक है।

कामनवेल्थ गेमस में बनाया था रिकार्ड

10 मीटर एयर राइफल में शूट करने वाले रवि ने साल 2018 के कामनवेल्थ गेम्स आस्ट्रेलिया में कांस्य पदक जीतने के साथ ही एक नया रिकार्ड भी बनाया था। उस प्रतियोगिता तक कामनवेल्थ में शूटिंग सर्वाधिक प्वाइंट का रिकार्ड 623.1 का था। उस रिकार्ड को तोड़ते हु रवि ने 626.8 प्वाइंट बनाया था। इसमें स्वर्ण से कांस्य तक के प्वाइंट्स में केवल 0.5 प्वाइंट का ही अंतर रहा था। उस प्रतियोगिता से मेरठ लौटने के बाद रवि कुमार ने देश में खिलाड़ियों के लिए सुविधाएं बढ़ाने और बेहतरीन शूटर तैयार करने के लिए अति आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराने की मांग उठाई थी। इसके साथ ही उन्होंने मेरठ में बढ़ते शूटर्स को देखते हुए मेरठ में भी आधुनिक शूटिंग रेंज होने की वकालत की थी।

एशियन गेम्स में पूरा किया पदक का वादा

कामनवेल्थ गेम्स में पदक जीतने के बाद शूटर रवि कुमार ने एशियन गेम्स में भी पदक लाने का वादा किया था। अगस्त 2018 में इंडोनिशया के जकार्ता में हुए 18वें एशियन गेम्स में टीम इवेंट में अपूर्वी चंदेला के साथ कांस्य पदक जीतकर उस प्रतियोगिता में देश को पहला पदक दिलाया था। रवि व अपूर्वी की जोड़ी ने 429.9 प्वाइंट शूट करके तीसरा स्थान हासिल किया था। मेरठ में मवाना के भैंसा गांव के रहने वाले शूटर रवि कुमार ने इस प्रतियोगिता के पहले दो बार कामनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लिया था और पदक भी जीता था। इसीलिए एशियन गेम्स में भी रवि कुमार से पदक की उम्मीद पहले से लगाई जा रही थी जिसे उन्होंने उम्मीद पर कायम रहते हुए पूरा किया।

इन प्रतियोगिताओं में रवि ने जीता पदक

साल 2013 में दिल्ली में हुई 57वीं नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में रवि कुमार को चैंपियन आफ चैंपियन का खिताब मिला था। उसी साल ईरान में हुए छठें एशियन एयरगन चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था। साल 2014 के ग्लैशगो कामनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लिया और अच्छे प्रदर्शन के साथ चौथे स्थान पर रहे। उसी साल कोरिया में आयोजित एशियन गेम्स में कांस्य पदक जीता था। 2014 में ही कुवैत में हुई सातवें एशियन शूटिंग चैंपियनशिप में भी कांस्य पदक जीता। 2016 में दिल्ली में 58वें नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में दो स्वर्ण पदक जीता। 2017 में जापान में एशियन चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता। 2017 में ही केरल में हुई नेशनल शूटिंग में स्वर्ण पदक जीता। 2018 में इंटरनेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में दो स्वर्ण पदक जीते। उसी साल आइएसएसएफ वल्र्ड कप मेक्सिको में कांस्य पदक और कामनवेल्थ गेम्स आस्ट्रेलिया में कांस्य पदक जीता। उसी साल कोरिया के आइएसएसएफ वल्र्ड कप में चौथे स्थान पर रहे जबकि जकार्ता के एशियन गे्म्स में कांस्य पदक जीतकर लौटे। उसी साल त्रिवेंद्रम में हुई 62वीं नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता। साल 2019 में चाइजनीज ताइपे में 12वें एशियन एयरगन चैंपियनशिप में एक स्वर्ण व एक रजत पदक जीता।

इन प्रतियोगिताओं में किया देश का प्रतिनिधित्व

शूटर रवि कुमार ने उक्त प्रतियोगिताओं में पदक जीतने के अलावा भी कई प्रतियोगिताओं में देश का प्रतिनिधित्व किया है। इनमें 2014 म्यूनिक आइएसएसएफ वर्ल्‍ड कप, 2014 स्पेन वर्ल्‍ड चैंपियनशिप, 2015 जर्मनी वल्र्ड कप, 2017 दिल्ली वर्ल्‍ड कप फाइनल, पिजन ग्रांड प्रिक्स, मयूनिक आइएसएसएफ वर्ल्‍ड कप, अजरबेजान आइएसएसएफ वर्ल्‍ड कप, आस्ट्रेलिया कामनवेल्थ चैंपियनशिप में हिस्सा लिया। इसके बाद 2018 जापान एच एंड एन कप, 2018 कोरिया आइएसएसएफ वर्ल्‍ड चैंपियनशिप और 2019 में दिल्ली वर्ल्‍ड कप, बीजिंग वर्ल्‍ड कप और म्यूनिक वर्ल्‍ड कप का भी हिस्सा रहे और देश का प्रतिनिधित्व किया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप