मेरठ, जेएनएन। किसानों को दिल्ली, गाजीपुर बार्डर व 26 जनवरी पर ट्रैक्टर रैली में शामिल होने से रोकने के लिए पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी अलर्ट मोड में आ गए है। शनिवार को एसडीएम कमलेश गोयल व सीओ उदयप्रताप सिंह मानिटरिग करते रहे। वहीं, रामराज स्थित धान मढ़ी में एकत्र होने की सूचना पर पहले ही पुलिस बल तैनात कर दिया।

कृषि कानून वापस लेने की मांग को लेकर किसान संगठन गाजीपुर बार्डर व यूपी गेट पर 58 दिनों से आंदोलन पर हैं। उधर, किसान कानून वापस नहीं होने पर ट्रैक्टर रैली पर अड़े हुए हैं। ऐसे में किसान गाजीपुर बार्डर पर ट्रैक्टर द्वारा कूच करने की फिराक में हैं। शनिवार को किसान संगठन के लोगों द्वारा बहसूमा के रामराज स्थित धान मंडी में एकत्र होने की बात सामने आयी तो दिन निकलते ही पुलिस बल तैनात कर दिया। वहीं, एसओ बहसूमा शिवदत्त सिंह और इंस्पेक्टर हस्तिनापुर अशोक कुमार सुरागरसी में लग गए। सूचना पर पुलिस राठौरा खुर्द निवासी किसान नेता जट सिंह के घर पहुंची। जब दिल्ली कूच नहीं करने के प्रति आश्वस्त हुए, तब वहां से चले गए। उधर, सर्किल के थानों की पुलिस हाईवे की पुलिस चौकियों पर मुस्तैद रही। वहीं, एसडीएम कमलेश गोयल, सीओ उदय प्रताप सिंह भी मानिटरिग करते रहे। जबकि मवाना, बहसूमा, हस्तिनापुर के कई गांवों में ट्रैक्टर द्वारा दिल्ली कूच करने की बात सामने आ रही है।

इन्होंने कहा..

दिल्ली कूच का प्रयास कर रहे किसान संगठन पदाधिकारियों से वार्ता की जा रही है। कई किसान नेता मान गए हैं, लेकिन फिर भी सतर्कता बरती जा रही है।

कमलेश गोयल, एसडीएम मवाना।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप