मेरठ, जेएनएन। STF और यूपी पुलिस (UP Police) के मोस्ट वांटेड अपराधी ढाई लाख के इनामी बदन सिंह बद्दो की अलीशान कोठी (Luxurious kothi of Baddo) पर एमडीए ने आखिरकार बुलडोजर चला दिया। गुरुवार को टीपीनगर के पंजाबीपुरा स्थित कोठी का सिर्फ 60 फीसद हिस्सा ही टूट पाया है। बद्दो की कोठी को तोड़ने के लिए सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस बल तैनात किया गया। एमडीए के अफसरों के अलावा एसएसपी से लेकर एसपी सिटी और दो एएसपी मौके पर मौजूद रहे। बद्दो को पुलिस कस्टडी से भागे दो साल का समय पूरा होने जा रहा है। पुलिस अभी तक भी उसका सुराग नहीं लगा पाई है। पुलिस ने बद्दो की संपत्ति कुर्क करने के बाद कोठी को जमींदोज करने की बड़ी कार्रवाई की है।  

मूलरूप से पंजाबीपुरा मेरठ निवासी बदन सिंह बद्दो 28 मार्च 2019 को फर्रूखाबाद पुलिस ने गाजियाबाद कोर्ट में पेश किया। शातिर बद्दो प्‍लानिंग के तहत पुलिस के साथ मेरठ के दिल्ली रोड स्थित मुकुट महल होटल में पहुंचा था, जहां से शराब पार्टी के दौरान पुलिसकर्मियों को बेहोश कर फरार हो गया था। बद्दो की फरारी पर ब्रह्मपुरी थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। बद्दो को पकड़ने के लिए यूपी पुलिस के अलावा एसटीएफ लगा दी गई। उसके बाद भी बद्दो का कोई सुराग नहीं लग पाया। पुलिस ने बद्दो की फरारी में सहयोग करने वाले आरोपितों को जेल भेज दिया था। अभी भी बद्दो की महिला दोस्त पर कार्रवाई नहीं हो पाई है। ब्रह्मपुरी पुलिस ने सात नवंबर को बद्दो की पंजाबीपुरा स्थित अलीशान कोठी की संपत्ति को कुर्क कर दिया। उसके बाद एमडीए ने गुरुवार को बद्दो की पंजाबीपुरा स्थित अलीशान कोठी को जमींदोज करने के लिए बुलडोजर चला दिया। पहले दिन दो बुलडोजर और 20 मजदूरों को लगाया गया, जो पूरा दिन में कोठी का 60 फीसदी हिस्सा तोड़ पाए है। कोठी को जमींदोज करने के दौरान एमडीए के डिप्टी कलेक्टर मनोज सिंह, एसएसपी अजय साहनी, एसपी सिटी अखिलेश नारायण, एएसपी कृष्ण विश्नोई, सूरज राय समेत भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहे। 

कोठी को देखने उमड़ी हजारों की भीड़

पंजाबीपुरा स्थित बद्दो की कोठी को धरसाई करने के समय हजारों की भीड़ उमड़ी। आसपास के लोग अपने घरों की छतों से कोठी को जमींदोज होते देख रहे थे। दरअसल, कोठी के पीछे बेरीपुरा में बद्दो ने अलीशान लॉन बना रखा था। उसी लॉन से बुलडोजर को प्रवेश कर कोठी तक ले जाया गया, जिसके बाद कोठी को जमींदोज करने का काम शुरू हो पाया। 

कोठी को तोड़ने के लिए दिए गए पांच नोटिस 

कोठी को जमींदोज करने के बाद बद्दो की भाभी कुलदीप कौर को पांच नोटिस दिए गए। तीन नोटिस एमडीए और दो नोटिस पुलिस के द्वारा कोठी के मुख्य गेट पर चस्पा किए गए। उसके बाद किसी भी नोटिस का कुलदीप कौर जवाब नहीं दे पाई। कुलदीप कौर की तरफ से कमिश्नर कोर्ट में वाद दायर किया था, जो सुनवाई के दौरान निरस्त कर दिया गया। 

पुलिस अधिकारी ने क्‍या कहा 

बदन सिंह बद्दो की कोठी का निर्माण बिना एमडीए की अनुमति से कराया गया था, जिसका एमडीए में कोई रिकॉर्ड नहीं है। ऐसे में कोठी अनाधिकृत थी, इसलिए बदन सिंह बद्दो की भाभी कुलदीप कौर को नोटिस देकर जवाब मांगा। कुलदीप कौर कोई जवाब नहीं दे पाई, ऐसे में पुलिस की सुरक्षा लेकर कोठी को जमींदोज करने की कार्रवाई की जा रही है। 

-मनोज सिंह, डिप्टी कलेक्टर एमडीए 

बद्दो की फरारी पर शासन के निर्देश पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है। पुलिस ने दो माह पहले ही संपत्ति कुर्क की थी। गुरुवार को एमडीए की तरफ से कोठी को जमींदोज करने के लिए फोर्स मांगी गई थी। एसपी सिटी और अन्य अफसरों के नेतृत्व में पुलिस फोर्स मुहैया करा दी गई है, आधे से अधिक बिल्डिंग धराशाई हो चुकी है। सुरक्षा के लिए रात में भी पुलिस की टीम कोठी पर लगाई गई है। 

-अजय साहनी, एसएसपी 

यह भी पढ़ें: Meerut: बद्दो की आलीशान कोठी में रातभर चलती थी पार्टी, खौफ से किसी की झांकने की भी नहीं होती थी हिम्‍मत

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप