मेरठ, जेएनएन। Case of extortion in Meerut मेरठ के भावनपुर के मुबारिकपुर में 15 घरों की दहलीज पर रंगदारी के पत्र फेंक के मामले का पूरी तरह से पटाक्षेप नहीं हो पाया है। पुलिस संदेह के आधार पर छह लोगों को हिरासत में लेकर राइटिंग कराई, जिसमें एक युवक की राइटिंग का पत्र से मिलान हो गया। उसके बाद भी आरोपित अभी पुलिस पकड़ से दूर बने हुए है।

भावनपुर के मुबारिकपुर निवासी सुखपाल, शिबू, ज्ञानेंद्र, दिनेश, मदन, नरेश, ओमकार, राजवीर, मांगे ,अलीजान, नूरु, धर्मवीर, राजवीर समेत 15 ग्रामीणों के घरों के गेट पर सुबह रंगदारी के पत्र मिले थे। पत्र में दो लाख से लेकर 20 लाख की रंगदारी मांगी गई। ग्रामीण शिवकुमार की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने विवेचना शुरू की। सोमवार को पुलिस ने संदेह के आधार पर छह लोगों को थाने बुलाकर राइटिंग कराई।

एक युवक की राइटिंग पत्र से मिल रही है। पुलिस ने उसे थाने में बैठाकर कार्रवाई शुरू कर दी। तभी शिवकुमार अपने साथ अन्य लोगों को लेकर थाने पहुंचा। युवक को मानसिक रोगी बताकर छुड़वा लिया है। इंस्पेक्टर रघुराज का कहना है कि पुलिस फिलहाल पूरे मामले की जांच कर रही है। पत्र डालकर अफवाह फैलाने वाले की तलाश की जा रही है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप