मेरठ, जेएनएन। कोरोना का टीका बड़े पैमाने पर लोगों को लग चुका है। बहुत कम लोगों में ही सही, लेकिन वैक्सीन के साइड इफेक्ट भी नजर आए हैं। हालांकि यह गंभीर नहीं था। सिर दर्द, उल्टी, बुखार, हल्का बदन दर्द व सामान्य एलर्जी मिल रही है। डाक्टरों ने साफ किया कि वैक्सीन में एंटीजन व कई प्रकार के प्रिजरवेटिव हो सकते हैं, इस वजह से खुजली, व चकत्ते हो सकते हैं। वैक्सीन के बाद बुखार होना अच्छा लक्षण माना जा रहा है। 42 दिन बाद एंटीबाडी बन जाएगी।

फिजिशियन डा. तनुराज सिरोही ने बताया कि देशभर में अब तक 2.24 लाख लोगों को वैक्सीन मिल चुकी है, जिसमें महज 447 में सामान्य इफेक्ट नजर आया।

कहा कि अगर शरीर में थकान, सिर में भारीपन या बुखार है तो साफ है कि टीका बेहतर काम कर रहा है, या यूं कहें कि शरीर वैक्सीन के प्रति बेहतर रिएक्ट कर रही है। जिले में 700 के सापेक्ष 566 लोगों को टीका लगाया गया। कई लोगों की मांसपेशियों में दर्द, भूख में कमी और डायरिया भी हुई। हालांकि डाक्टरों का कहना है कि इन दिनों कड़ी ठंड पड़ने से भी ऐसे लक्षण उभर सकते हैं। मेडिकल कालेज के माइक्रोबायोलोजिस्ट डा. अमित गर्ग का कहना है कि कोविशील्ड की वैक्सीन के परिणाम ट्रायल में बेहतर रहे हैं। यह एडीनो वायरस में स्पाइक प्रोटीन का जीनोम डालकर बनाया गया है। इनएक्टिवेटेड वायरस का प्रयोग किया गया है। वैक्सीन में कई प्रकार के एंटीजन होते हैं। लिक्विड खराब न हो, इसके लिए प्रजेर्वेटिव भी होते हैं, जिससे बुखार, शरीर में एलर्जी, सांस में दिक्कत हो सकती है। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि दूसरे एवं तीसरे चरण की तैयारियां कर ली गई हैं। हर मरीज को 30 मिनट तक निरीक्षण में रखा जाएगा। कोई डर की बात नहीं है। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप