मेरठ, जेएनएन। सीबीएसई के सिटी कोआर्डिनेटर सुधांशु शेखर ने जिले के बेहतर रिजल्ट पर खुशी व्यक्त करते हुए सभी प्रधानाचार्यों को बधाई दी। उनका दावा है कि पिछले कुछ सालों से सीबीएसई के रिजल्ट में मेरठ का ए-वन ग्रेड लगातार बढ़ रहा है। ए-वन ग्रेड का आंकलन विभिन्न विषयों में छात्रों द्वारा 100 में 100 अंक लेने पर तय किया जाता है। सीबीएसई की ओर से ए-वन ग्रेड रिजल्ट के एक महीने बाद हर स्कूल को भेजा जाता है। इस साल भी विषयों में अधिकतम अंक लाने वाले छात्रों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। स्कूलों के रिजल्ट में ओवरऑल पास परसेंटेज भी बढ़ा है। जिले में 105 स्कूलों के 11,277 छात्र बोर्ड परीक्षा में शामिल हुए थे। ए ग्रेगेड अंकों में 70 से 80 और 80 से 90 के ब्रैकेट में अंक लाने वाले छात्रों की संख्या भी बढ़ी है।

अंक सत्यापन के लिए करें आवेदन

सीबीएसई द्वारा दिए गए अंक से संतुष्ट न होने वाले छात्र अंक सत्यापन यानी माक्र्स वेरीफिकेशन के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। छात्रों को माक्र्स वेरीफिकेशन के लिए प्रति विषय 500 रुपये शुल्क देने होंगे। अंक सत्यापन का रिजल्ट छात्रों के पास तभी आएगा, जब अंकों में कोई बदलाव होगा। बदलाव न होने पर वेबसाइट पर ही अपडेट देखना होगा। माक्र्स वेरीफिकेशन के लिए आवेदन करने वाले छात्र ही उत्तर पुस्तिका की फोटो कॉपी के लिए भी आवेदन कर सकते हैं। माक्र्स वेरीफिकेशन और फोटोकॉपी उन्हीं विषयों के लिए आवेदन कर सकते हैं, जिनकी परीक्षा हुई है। जिन विषयों की परीक्षा नहीं हुई है उनके लिए आवेदन नहीं कर सकते हैं। माक्र्स वेरीफिकेशन में अन्य विषयों के अंक बढऩे से एवरेज अंक वाले विषय का अंक खुद ही बढ़ा दिया जाएगा।

27 जुलाई तक चलेगी सीबीएसई की हेल्पलाइन

सीबीएसई ने कक्षा 12वीं का रिजल्ट जारी करने के साथ ही बोर्ड परीक्षार्थियों और स्वजनों के लिए हेल्पलाइन सेवाएं शुरू कर दी हैं। देश-विदेश में स्कूलों के 94 प्रधानाचार्य और काउंसलर छात्रों का मार्गदर्शन करेंगे। छात्र सीबीएसई के टोल-फ्री नंबर 1800-11-8004 पर 27 जुलाई तक सुबह 9:30 बजे से शाम को 5:30 बजे तक काउंसलर्स से संपर्क कर अपनी समस्या का समाधान और मार्गदर्शन प्राप्त कर सकते हैं। इसमें आइवीआर और लाइव काउंसिलिंग सेवा मुहैया कराई जा रही है। 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस