मेरठ, जेएनएन। नगर निगम से रिटायर्ड लेफ्टिनेंट शक्ति सिंह मलिक के नेतृत्व में प्रवर्तन दल शनिवार को दोपहर दो बजे सूरजकुंड स्पो‌र्ट्स बाजार पहुंचा। यहां प्रतिबंधित पॉलीथिन जब्त करने की कार्रवाई शुरू की गई। इसी दौरान गोयल प्रोविजन स्टोर से पॉलीथिन जब्त करने को लेकर हंगामा शुरू हो गया। देखते ही देखते प्रवर्तन दल और व्यापारी आमने-सामने आ गए। क्षेत्रीय पार्षद भी मौके पर पहुंच गए। सूचना पर सिविल लाइंस थाने की पुलिस ने पहुंच कर मामला शांत कराया। दोनों ही तरफ से सिविल लाइंस थाने में तहरीर दी गई है।

प्रवर्तन दल अधिकारी रिटायर्ड कर्नल राजकुमार बालियान का कहना है कि गोयल प्रोविजन स्टोर से दो किलो से ऊपर प्रतिबंधित पॉलीथिन जब्त की गई थी। इसके एवज में 1000 रुपये जुर्माना वसूला गया था। इसी बात को लेकर व्यापारी ने विरोध किया। इसी दौरान क्षेत्रीय पार्षद अंशुल गुप्ता आ गए और कार्रवाई का विरोध किया। प्रवर्तन दल अधिकारी ने कहा कि इस मामले में सिविल लाइंस थाने में तहरीर दी गई। जिसमें कहा गया है कि क्षेत्रीय पार्षद और व्यापारियों ने ड्यूटी के दौरान बाधा पहुंचाई और गोयल प्रोविजन स्टोर से वसूला गया जुर्माना और जब्त पॉलीथिन छीन लिया गया। वहीं, क्षेत्रीय पार्षद अंशुल गुप्ता और उप्र व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष धीरज गोयल ने बताया कि गोयल प्रोविजन स्टोर पर मिली पॉलीथिन प्रतिबंधित नहीं थी। वह 50 माइक्रॉन से ऊपर की थी। प्रवर्तन दल पॉलीथिन की गुणवत्ता मापने वाले मीटर के बिना ही कार्रवाई करने पहुंचे थे। व्यापारियों की ओर से भी सिविल लाइंस थाने में तहरीर दी गई है। मांग की गई है कि पॉलीथिन गुणवत्ता की चेकिंग पहले सुनिश्चित की जाए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप