मेरठ। मेरठ कॉलेज के कथित छात्र नेताओं की गुंडई थमने का नाम नहीं ले रही है। चार दिन पहले कचहरी पार्किग के कर्मचारियों से मारपीट का मामला अभी शांत नहीं हुआ कि बुधवार को एक और बखेड़ा खड़ा कर दिया। संगठन से जुड़ने की बात कहकर बजरंग दल कार्यकर्ता को बुलाया और मेरठ कॉलेज में ले जाकर दर्जनों छात्रों ने उस पर हमला कर दिया।

सिविल लाइन थाने के पास रहने वाला रोहित गिरी बजरंग दल का महानगर सुरक्षा प्रमुख है। उसका कहना है कि उसका चचेरा भाई करन पब्लिक स्कूल में नौवीं कक्षा का छात्र था। स्कूल प्रबंधन ने दसवीं में एडमिशन कराने के लिए दस हजार रुपये ले लिए। इसके बाद न तो एडमिशन हुआ और न ही पैसे वापस किए। रोहित का कहना है कि वह चचेरे भाई और चाची को लेकर स्कूल गया तो प्रधानाचार्य ने पहचानने से इन्कार कर दिया। इसके बाद उसने फेसबुक पर आह्वान किया था कि सभी सामाजिक संगठन मनमानी के विरोध में गुरुवार को करन पब्लिक स्कूल पर पहुंचें। इसके बाद दोपहर तीन बजे अंकित नाम के युवक ने उन्हें फोन करके मेरठ कॉलेज के बाहर बुलाया। कहा कि कई लड़के संगठन से जुड़ना चाहते हैं।

दर्जनों छात्रों ने किया हमला, कहा-भानू बड़े भैया हैं

रोहित का कहना है कि मेरठ कॉलेज के बाहर छात्र नेता अनुराग चौधरी नशे में मिला। वह उसे अंदर ले गया और जहां दर्जनों छात्रों ने बेल्ट व लात-घूंसों से उन पर हमला कर दिया। पिटाई करते हुए वह कह रहे थे कि भानू हमारे बड़े भैया हैं। ज्यादा मत उछलना। रोहित गिरी के मुताबिक भानू करन पब्लिक स्कूल के डायरेक्टर हैं। इस पर बजरंग दल के प्रांत संयोजक बलराज डूंगर, विहिप के विभाग मंत्री गोपाल शर्मा, मधुबन, गौरव गर्ग आदि लोग लालकुर्ती थाने पहुंचे और तहरीर दी। थाना प्रभारी रघुराज सिंह ने बताया कि मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।

Posted By: Jagran