जागरण संवाददाता, मऊ : जनपद के चर्चित लेखपाल हत्याकांड का पुलिस ने गुरुवार को खुलासा कर दिया। एसपी सुरेंद्र बहादुर ने इस हत्याकांड का साजिशकर्ता पूर्व ब्लाक प्रमुख व वर्तमान प्रमुख पति परदहां रमेश ¨सह काका को करार दिया। इसमें मामले में पुलिस ने नसोपुर के ग्राम प्रधान हरिभवन यादव उर्फ छन्नू सहित चार को गिरफ्तार करते हुए मीडिया के समक्ष पेश किया। पुलिस ने इस घटना का कारण रस्तीपुर गांव में आबादी की जमीन को बताया है।

एसपी ने बताया कि रस्तीपुर गांव में जगरनाथ, मनोज व फुलवासी देवी के बीच आबादी की जमीन को लेकर विवाद था। इस विवादित जमीन पर जगरनाथ व मनोज मकान का निर्माण कराना चाहते थे लेकिन फुलवासी देवी इसका विरोध कर रही थीं। इसे हासिल करने के लिए फुलवासी देवी द्वारा लेखपाल धीरज ¨सह को प्रार्थना पत्र दिया गया था। इस पर जगरनाथ, मनोज व सोनू द्वारा कराए जा रहे मकान निर्माण को लेखपाल द्वारा रोकवा दिया गया था। इस पर जगरनाथ का पक्ष किसी भी सूरत पर मकान पर निर्माण कराना चाहता था। इसके लिए लेखपाल पर लगातार दबाव बनाया जा रहा था। लेखपाल व जगरनाथ के पक्ष के बीच एक सप्ताह पूर्व इसी मामले पर रस्तीपुर में ही गाली-गलौज व हाथापाई हुई थी। इसी मामले को लेकर रमेश ¨सह काका के दाहिने हाथ पखईपुर निवासी अर¨वद ¨सह, जगरनाथ व उनके पुत्र विनोद, मनोज राम तथा प्रधान छन्नू यादव 11 फरवरी की शाम छह बजे लेखपाल के आवास पर समझौते के लिए दबाव बनाने गए थे। करीब 20-25 मिनट बात हुई परंतु लेखपाल ने कहा कि मैं एकपक्षीय रिपोर्ट नहीं लगाऊंगा। इसी मामले को लेकर दोनों पक्षों में गाली-गलौज होने लगी। इसी दौरान लेखपाल ने जगरनाथ को धक्का देकर बाहर निकाल दिया। इस पर जगरनाथ का लड़का विनोद गुस्से में आ गया और अर¨वद के साथ मिलकर पिस्टल से उनपर फायर कर दिया। गोली गलने से लेखपाल को लगी और जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई। एसपी ने बताया कि इस वारदात में रमेश ¨सह काका साजिशकर्ता हैं।

इनसेट--

गिरफ्तार अभियुक्तगण-

1- विनोद कुमार।

2- जगरनाथ।

3- मनोज कुमार निवासीगण छोटी रस्तीपुर थाना सरायलखंसी।

4- हरिभवन यादव उर्फ छन्नू यादव निवासी नसोपुर थाना सरायलखंसी। फरार अभियुक्त-

अर¨वद ¨सह निवासी पखईपुर थाना सरायलखंसी।

बरामदगी-

1- आलाकत्ल एक पिस्टल 32 बोर।

इनसेट--

पुलिस को 55 हजार का इनाम

गिरफ्तारकर्ता पुलिस टीम को घटना के 72 घंटे के अंदर सफल अनावरण करने पर उत्साहवर्धन हेतु डीआईजी आजमगढ़ द्वारा 45 हजार व पुलिस अधीक्षक द्वारा 10 हजार रुपये के नकद पुरस्कार से पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप