जागरण संवाददाता, पलिगढ़ (मऊ) : सरकार भले ही आर्थिक मंदी का समर्थन न कर रही हो परंतु मंदी का असर खुद-ब-खुद स्थानीय बाजार से लेकर तेंदुली नहर चट्टी, पलिया, रानीपुर, खुरहट सहित मिर्जाहादीपुर बाजार की स्थिति बयां कर रही है। बाजार में कई माह से दो हजार का नोट का न दिखाई देना इसी का कारण मान रहे हैं।

स्थानीय बाजार के व्यापारी गोपाल पांडेय, ब्रृजेंद्र द्विवेदी, राजेंद्र, धंजू यादव, बिरजू राजभर सहित अन्य लोगों ने बताया कि तकरीबन तीन माह हो गया लेकिन दो हजार का नोट मिलना तो दूर देखने को भी नहीं मिल रहा है। किसान सहित व्यापारी भी बता रहे हैं कि स्थानीय बैंक आफ बड़ौदा बैंक पर भी बड़ी नोट नहीं आ रही है। बड़ी बात यह कि नवंबर माह से लगन की तेजी है। इसको देखते हुए मांगलिक कार्य के लिए खरीदारी करने में बड़ी नोट के न मिलने से पांच सौ, दो सौ तथा सौ-सौ के नोट से काम चला रहे हैं। उनका कहना है कि छोटी नोट ज्यादा हो जाने से जहां ले जाने, ले आने में दिक्कत हो रही है। वहीं छीने जाने का भी भय सताता हैं। पर्व में भी महिलाओं सहित अन्य को सामानों की खरीदारी में दो हजार के नोट की कमी सताती रही।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस