जागरण संवाददाता, मुहम्मदाबाद गोहना (मऊ) : शुक्रवार की सुबह से ही झमाझम हो रही बारिश के कारण तहसील क्षेत्र के चकसहजा गांव निवासी ठेला चालक रामपाल पुत्र शिवबदन का दोपहर में कच्चा मकान गिर गया। इसमें रहने वाले लोग बाल-बाल बच गए, परंतु मकान मालिक रामपाल और उनकी पत्नी राधिका देवी एवं 19 वर्षीय बिटिया वंदना भारती बुरी तरह से घायल हो गईं। मकान गिरने के बाद उसमें रखे खाने-पीने के हजारों का सामान बर्बाद हो गया। मकान से सटे एक दीवार खड़ी थी। सुबह से हो रही बारिश के कारण दीवाल रामपाल के कच्चे मकान पर गिर गई। इसकी वजह से घर गृहस्थी का सामान भी नष्ट हो गया। पीड़ित रामपाल ठेला चला कर मजदूरी करता है और किसी तरह अपने परिवार का जीवन चला रहा था। दूसरी तरफ इस वैश्विक महामारी से जहां गरीब मजदूर बेहाल हो चले हैं वहीं रामपाल का कच्चा मकान गिर जाने से उसके समक्ष अपना व अपने सर ढकने की उचित व्यवस्था नहीं है। मकान गिरने से एक बकरी, पंखा, साइकिल, चावल, गेहूं, बक्शा, शौचालय, चार मशीन व अन्य सब कुछ गृहस्थी का सामान बर्बाद हो गया। पीड़ित परिवार ने संबंधित अधिकारियों से सरकारी सहायता के लिए गुहार लगाया है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस