जागरण संवाददाता, मऊ : यातायात के विभिन्न माध्यमों से प्रवासी श्रमिकों के आगमन का सिलसिला खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। मऊ जंक्शन पर मात्र उत्तर प्रदेश के ही नहीं बल्कि बिहार राज्य के अनेक जिलों के यात्री ट्रेनों के माध्यम से आ रहे हैं। कोई श्रमिक स्पेशल ट्रेन पंजाब से श्रमिकों को लेकर आ रही है तो कोई गुजरात-दिल्ली या तमिलनाडु से। सोमवार को आधा दर्जन श्रमिक स्पेशल एक्सप्रेस से चार हजार से अधिक प्रवासी श्रमिक मऊ जंक्शन आए, जिन्हें थर्मल स्क्रीनिग के बाद जिला प्रशासन ने रोडवेज बसों से उनको आगे की यात्रा के लिए रवाना किया।

महानगरों से प्रवासी श्रमिकों के आगमन की रफ्तार बढ़ती ही जा रही है। पंजाब राज्य से बड़ी संख्या में मजदूर वापस आ रहे हैं। गुजरात के सूरत और अहमदाबाद से भी श्रमिकों के आगमन की सिलसिला कमजोर पड़ता नजर नहीं आ रहा है। जीआरपी थानाध्यक्ष ओमप्रकाश तिवारी एवं आरपीएफ के थानाध्यक्ष डीके राय के नेतृत्व में महानगरों से आए प्रत्येक प्रवासी श्रमिक को ट्रेनों से नीचे उतारकर पहले शारीरिक दूरी का पालन कराते हुए कतार लगवाई जा रही है। इसके बाद एक बोगी के यात्रियों की क्रम से थर्मल स्क्रीनिग के बाद अगली बोगी के यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिग कराई जा रही है। सीएमओ डा.सतीशचंद्र सिंह के नेतृत्व में गठित डॉक्टरों की छह टीमें यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिग के साथ ही उनके नाम-पते का रिकार्ड भी तैयार कर रही हैं। मेडिकल जांच का दौर पार करने के बाद यात्रियों को जिलाधिकारी ज्ञानप्रकाश त्रिपाठी के निर्देशन में भोजन का पैकेट एवं पानी की बोतल दी जा रही है। भोजन ग्रहण करने के बाद यात्रियों को उनके संबंधित जिलों की ओर जाने वाली रोडवेज की बसों में बैठा दिया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस