जागरण संवाददाता, मऊ : पिछले कुछ दिनों से जारी मौसम में परिवर्तन गुरुवार को भी जारी रहा। सुबह काफी घना कोहरा छाया रहा, जिससे सड़कों पर जगह-जगह वाहन खड़े रहे। वहीं कुछ वाहन सड़क पर रेंगते रहे, सुबह में ²श्यता घटकर सौ मीटर से भी कम हो गई थी। घने कोहरे के कारण आफिस से लगायत गंतव्य पर जाने वाले लोग अपने घरों से देर से निकले।

बुधवार को जिले का न्यूनतम तापमान 12 डिग्री रहा वहीं अधिकतम 26 डिग्री सेल्सियस रहा। दस बजे के आंख-मिचौली के बाद धूप खिली तो लोगों को राहत मिली। बुधवार को जहां आसमान में हल्के बादल छाए थे वहीं गुरुवार को मौसम ने अचानक करवट लिया। सुबह में काफी घना कोहरा रहा, जिससे लोग सुबह देर तक अपने घरों में ही रहे। एक हफ्ते बाद घना कोहरा देख ऐसा महसूस हुआ कि ठंड दोबारा से दस्तक दे रही है। गांवो में जहां लोग कौड़ा के सहारे रहे वहीं शहरों में भी पुलिस और वाहन चालक कुछ स्थानों पर अलाव से चिपके रहे। कोरोना संक्रमण के कारण बंद उच्च प्राथमिक विद्यालय खुलने से छोटे बच्चे भी कोहरे में स्कूल जा रहे थे। जनवरी माह में कोहरे के बाद फरवरी में तेज धूप से किसानों के माथे पर साफ तौर पर चिता की लकीरें देखी जा सकती थी। दुबारा कोहरा छाने किसानों का कहना है कि इससे गेहूं की फसलों को संजीवनी मिलेगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप