जागरण संवाददाता, मऊ : उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की  जनपदीय संयुक्त कार्यसमिति की आयोजित बैठक रविवार को हुई। इसमें स्कूल चलो अभियान,  नामांकन वृद्धि, शैक्षिक गुणवत्ता, शिक्षकों की समस्याओं जैसे निलंबन, वेतन कटौती आदि पर चर्चा के साथ ही शिक्षक, छात्र उपस्थिति एवं शैक्षिक गुणवत्ता पर बल दिया गया।

जिलाध्यक्ष कृष्णानंद राय ने कहा कि जिलाधिकारी द्वारा शिक्षकों की समस्याओं का समाधान करने के निर्देश कलेक्ट्रेट की बैठक में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को दे दिए गए हैं। इसलिए अब हमें अपनी समस्याओं की चिता छोड़ काम पर ध्यान देने की आवश्यकता है। क्योंकि हमारे अधिकार एवं कर्तव्य दोनों का बराबर महत्व है। संगठन जहां एक तरफ शिक्षकों के अधिकार एवं सम्मान की रक्षा हेतु सतत प्रयत्नशील है, वहीं शिक्षकों के कर्तव्यों के प्रति भी जागरूक एवं सजग है। जिला मंत्री अखिलेश्वर शुक्ल ने कहा कि शिक्षक-छात्र उपस्थिति पर गंभीरता से कार्य करने की आवश्यकता है। संयुक्त मंत्री मनीराम ने कहा कि विद्यालय ही शिक्षक की पहचान है। स्कूल चलो अभियान को सभी पदाधिकारी एवं शिक्षक मिल-जुल कर सफल बनाएं तथा अधिक से अधिक नामांकन करें। बैठक में निर्णय लिया गया कि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा शिक्षकों के विरुद्ध द्वेषपूर्ण कार्य करना जारी रखा गया तो संगठन पुन: संघर्ष के लिए तैयार रहेगा। सभी शिक्षक समय से उपस्थित होकर अपना कार्य निर्भीकता से करें, संगठन उनके साथ होने वाले अन्याय के विरुद्ध सतत संघर्षशील  है। घनश्याम यादव, राशिद जमाल, राधेश्याम राम, उपेंद्रनाथ तिवारी, धीरेंद्र राय, रमाकांत यादव, विजय सिंह, अखिलेश कुमार मौर्य आदि थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप