जागरण संवाददाता, मधुबन (मऊ) : स्थानीय थाना क्षेत्र के हृदयपट्टी में बीते दो अगस्त को लावारिस हाल में बरामद हुई युवती के शव का शिनाख्त होते ही पुलिस ने उसकी हत्या के कारणों का भी खुलासा कर दिया। यह साबित हो गया कि युवती की हत्या आनर किलिग का परिणाम थी। उसके प्रेम संबंध से नाराज होकर उसके ही पिता और चाचा ने उसकी हत्या कर शव को पत्थर से बांधकर पानी में फेंक दिया था। पुलिस ने हत्यारोपितों को गिरफ्तार भी कर लिया।

क्षेत्र के हृदयपट्टी में बीते दो अगस्त की शाम को पानी में पत्थर में बांधकर फेंका हुआ युवती का लावारिस शव बरामद हुआ था। पुलिस इस मामले की जांच पड़ताल कर ही रही थी कि हृदयपट्टी निवासी एक युवक ने फोटो के आधार पर युवती की शिनाख्त करते हुए पुलिस को जानकारी दिया कि 25 वर्षीय युवती हृदयपट्टी निवासी रामबली की पुत्री है। उसके साथ युवक का प्रेम संबंध था। इससे युवती के परिजन काफी नाराज रहते थे। इस जानकारी के आधार पर गुरुवार की सुबह मुखबीर की सूचना पर पुलिस ने क्षेत्र के नंदौर से युवती के पिता रामबली और उसके चाचा राम शब्द को हिरासत में ले लिया। उनसे पूछताछ किया तो पूरा घटनाक्रम सामने आ गया। पुलिस ने बताया कि युवती के प्रेम संबंध को लेकर उसके परिवार वाले हमेशा विरोध करते थे। युवती पर जब इसका असर नहीं पड़ा तो उसके पिता व चाचा ने घर के पास की मंड़ई में बीती 30 जुलाई की रात में गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। 31 जुलाई की रात में साक्ष्य मिटाने के लिए उसके शव को पानी में ले जाकर फेंक दिए। जब शव मिलने की हलचल मची तो सब कुछ जानकर भी युवती के परिवार वाले चुप्पी साधे रहे। इस मामले में पुलिस ने पिता व चाचा के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कर चालान कर दिया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस