जागरण संवाददाता, मऊ : शिकागो में स्वामी विवेकानंद के दिए गए भाषण की 125वीं वर्षगांठ पर जिले के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्कूलों में विविध कार्यक्रमों के जरिए छात्रों को स्वामीजी के विचारों और दर्शन से परिचित कराया गया। मुहम्मदाबाद गोहना शिक्षा क्षेत्र के नगरीपार प्राथमिक विद्यालय पर छात्रों ने स्वामी विवेकानंद जैसा ही सन्यासी का वेश धारण कर उनके विचारों अपने शब्दों में व्यक्त किया।

प्रावि नगरीपार में आयोजित भाषण प्रतियोगिता में रितू यादव प्रथम, अंजली एवं कृष्णा द्वितीय तथा वंदना और अंकिता संयुक्त रूप से तृतीय स्थान पर रहे। प्रधानाध्यापक स्वतंत्र कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि स्वामी विवेकानंद के शिकागो में दिए भाषण को युगों-युगों तक याद किया जाता रहेगा। जब तक मानव का अस्तित्व है उनके आध्यात्मिक विचारों और दर्शन की प्रासंगिकता कभी खत्म नहीं होगी। कार्यक्रम में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले छात्रों को पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर राजीव पांडेय, शेषनाथ, संजय यादव, शशिकला आदि उपस्थित थे। उधर, मुहम्मदाबाद गोहना शिक्षा क्षेत्र पर राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त प्रधानाध्यापक रामनिवास मौर्य के नेतृत्व में स्वामी विवेकानंद के चरित्र पर कार्यक्रम आयोजित कर बच्चों को उनके विचारों से अवगत कराया गया। वाद-विवाद प्रतियोगिता के जरिए स्वामीजी के विचारों को छात्रों ने अपने शब्दों में व्यक्त किया। भाषण प्रतियोगिता में प्रथम काम्या ¨सह को पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर शिवदान चौहान, सहायक अध्यापक ज्यो¨तद्रपति पांडेय, विवेक कुमार, लालमती देवी आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप