जासं, मऊ : संत निरंकारी मिशन के तत्वावधान में राघोपट्टी स्थित सत्संग भवन पर मकरसंक्रांति पर्व को भक्ति पर्व समागम के रूप में मनाया गया। मिशन के प्रचारक बच्चेलाल चौहान ने बताया कि निरंकारी संत समागम मानवता के कल्याण का महाकुंभ है। सत्संग रूपी महासागर में जो डुबकी लगातें हैं अपने जीवन को सफल बना लेते हैं। सत्संग जीवन को निर्मल और पवित्र बनाता है। यह मन के खराब विचारों और पापों को दूर करता है। वाणी में सत्यता का संचार होता है। सत्संग मनुष्य का हर तरह से कल्याण करती है। इस अवसर पर बीके गौतम, सुभाषचंद्र वर्मा, डा. बैजनाथ ¨सह, बालकिशुन गौतम, राजेंद्र, रामकृत यादव शामिल थे।

Posted By: Jagran