जागरण संवाददाता, कोपागंज (मऊ) : बारिश के चलते सोमवार का पूरा दिन अस्त-व्यस्त रहा। रविवार की रात से जमकर शुरू हुई बारिश के चलते चारों तरफ पानी ही पानी दिखने लगा। रविवार को दस बजे के बाद से ही पानी बरसना शुरू हुआ जो रात भर चलकर दूसरे दिन मूसलाधार बारिश में तब्दील हो गया। बारिश के कारण उमस भरी गर्मी में जहां लोगों को काफी राहत मिली। वहीं कस्बे की सड़कों पर भी पानी भर गया। जबकि कस्बे के निचले हिस्से सोनकर बस्ती के सड़क पर पूरे दिन लबालब पानी भरा रहा। बारिश का पानी सोनकर बस्ती के कई घरों में भी घुस गया।

ग्रामीण क्षेत्रों में घंटों तक मूसलाधार बारिश के बाद छोटे-बड़े पोखरे तालाब भर गए। खेतों में बारिश के पानी लगने के बाद बारिश के लिए कई दिनों से बादल की ओर टकटकी लगाए किसानों के मुरझाए चेहरे भी खिलखिला उठे। किसान सुबह होते ही खेतों में धान की रोपाई में जुट गए। नाला सफाई न होने से खड़ी हुई समस्या

कस्बे के निचले हिस्से दोस्तपुरा, सोनकर बस्ती के लोगों को बारिश का पानी मुसीबत में डाल दिया। मुहल्ले के लोगों का आरोप है कि बस्ती से होकर जाने वाले नाले की सफाई नहीं होने से कुछ घंटे की मूसलाधार बारिश के बाद सड़क पर एक फीट तक पानी आ गया। जबकि अधिकतर घर में बरसात का पानी घुस गया। आरोप लगाया कि प्रतिवर्ष बरसात से पूर्व लाखों की लागत से कस्बे के नालों की साफ-सफाई करने के नगर पंचायत प्रशासन के दावे की पोल बरसात के दिनों में कुछ घंटे के मूसलाधार बारिश ने खोल कर रख दी।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran