जागरण संवाददाता, चिरैयाकोट (मऊ) : थाना क्षेत्र के असलपुर ग्राम प्रधान का मुख्य हत्यारोपित पुलिस की पकड़ से अब भी बाहर है। हालांकि पांच आरोपित सलाखों के पीछे हैं, परंतु मुख्य हत्यारोपित तक पुलिस का नहीं पहुंचना किसी के गले नहीं उतर रहा है। अब किसी सफेदपोश के संरक्षण की भी चर्चाएं उठने लगी हैं। इधर पुलिस ने मंगलवार को 25 हजार के इनामिया राहुल सिंह के घर कुर्की का नोटिस भी चस्पा कर दिया।

आठ सितंबर की सुबह 11 बजे गांव में भरी पंचायत के बीच ग्राम प्रधान मुन्ना राम बागी की पुराने रंजिश में गोली मारकर हत्या कर दी गई। प्रधान की पत्नी ने गांव के छह लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया था। घटना के 40 दिन बाद भी मुख्य हत्यारोपित राहुल सिंह पुलिस की पकड़ से बाहर है। पुलिस की पकड़ में नहीं आने से राहुल सिंह पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। वहीं घटना के बाद से पुलिस की कई टीमें और स्वाट टीम संभावित ठिकानों पर छापा मार रही पर अभी तक वह हाथ नहीं लगा। सफेदपोशों के संरक्षण के चलते राहुल सिंह पुलिस की पकड़ से बाहर है। राहुल सिंह के गोरखपुर के एक माफिया के यहां शरण लेने की भनक पर पुलिस और खुफिया विभाग ने उसके कई ठिकानों पर छापा मारा था। पुलिस के छापा मारने की सूचना उसे पहले हो जाती थी। पुलिस ने कार्यवाही को आगे बढ़ाते हुए 23 सितंबर को ही उसके खिलाफ कुर्की आदि का आदेश प्राप्त कर लिया था। ग्राम प्रधान की हत्या में ग्राम प्रधान की पत्नी मीरा देवी की तहरीर पर राहुल सिंह समेत छह लोगों के खिलाफ नामजद तहरीर दी थी। तहरीर के आधार पर पुलिस ने छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज का धर-पकड़ शुरू कर दी थी। राहुल सिंह को छोड़कर पांच आरोपी जेल में हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस