जागरण संवाददाता, नौसेमरघाट (मऊ) : परदहा ब्लाक में बढुवा गोदाम गांव के नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान अरविद कुमार भारती जल संचयन व संरक्षण को लेकर काफी गंभीर हैं। उन्होंने गांव में बड़े पोखरे की खोदाई का कार्य बुधवार को शुरू कराया है। इसके लिए वह ग्रामीणों को भी जागरूक कर रहे हैं।

गांव के ही किसान सूर्यभान सिंह के पांच बिस्वा खेत में मनरेगा के अंतर्गत लगभग एक लाख 66 हजार की लागत से बनी पोखरी की खोदाई कार्य ग्राम प्रधान ने फावड़ा चला कर शुरू किया। इसके बाद 77 महिला एवं 88 पुरुष श्रमिक खोदाई कार्य में जुट गए। ग्राम प्रधान ने बताया यहां जल संचयन के साथ छठ पूजा के लिए भी महिलाओं को सुविधा मिलेगी। इससे पानी को तरसते पशु-पक्षी भी अब राहत की सांस ले सकेंगे। पोखरा के किनारे भूमि का कटाव रोकने व छाया के लिए पौधारोपण करने के साथ बैठने के लिए सीमेंटेड बेंच की व्यवस्था की जाएगी। इसके साथ ही मत्स्य पालन पर भी ग्रामीणों को जागरूक किया जा रहा है। यहां मनरेगा मजदूर युद्धस्तर पर कार्य कर रहे हैं जिससे बारिश के मौसम में जल को आसानी से संरक्षित किया जा सकेगा। गांव के कमलेश सिंह, रमेश सिंह, लल्लन, जनार्दन सिंह, गीता देवी, शुभम, ममता, रामकेर, संध्या, पूजा देवी, आरती गुप्ता, वंदना सिंह महिलाओं एवं पुरुषों ने हाथों हाथ लेकर ग्राम प्रधान की सराहना की।

शुद्ध पेयजल के लिए की पहल

गांव में बरसात के पानी की जल निकासी के लिए 18 जगहों पर पाइप लगवाया गया है। दस इंडिया मार्का हैंडपंप मरम्मत व रिबोर कार्य के लिए प्रस्ताव दिए गए हैं। ताकि उनके ग्राम पंचायत में पानी की समस्या ना हो सके। पिछली बरसात में नाली से जल निकासी की समस्या बीच गांव में पानी की वजह से सफाई कर्मियों द्वारा नाली साफ करवा कर एवं मरम्मत भी कराए जाने का प्रस्ताव दिया गया है। गांव में व्यक्तिगत व सार्वजनिक जगहों पर पौधारोपण का कार्य करवा रहे हैं ताकि पर्यावरण भी होता रहे। वही ग्राम पंचायत में ब्लीचिग पाउडर सहित दवा का छिड़काव भी कोरोना वायरस से बचाव के लिए कराया जा रहा है। ब्लाक क्षेत्र के कई गांवों में पोखरी खोदाई का प्रस्ताव दिया गया है। ग्राम पंचायतों में मनरेगा के अंतर्गत कार्य कराए जा रहे हैं जिससे गांव बेरोजगार महिला एवं पुरुष श्रमिकों को रोजगार मिल सके।

- शिप्रा पाल, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट एवं खंड विकास अधिकारी, परदहा।