जागरण संवाददाता, बोझी (मऊ) : दोहरीघाट थाना क्षेत्र के मादी-सिपाह में मां-बेटे के दोहरे हत्याकांड में पुलिस के हाथ खाली हैं। पुलिस पिछले पांच दिन से लगातार मृतका के पति से पूछताछ कर रही है परंतु राज से पर्दा नहीं उठ सका है। जबकि परिस्थितियां इशारा भी कर रही हैं। दोहरे हत्याकांड का पर्दाफाश न होने से क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार गर्म है।

पुलिस पर सवाल उठ रहा है कि पुलिस पहले दिन से ही हत्याकांड के करीब पहुंच गई थी और जल्द ही खुलासे का दंभ भी भर रही थी, तो फिर खुलासे में देर क्यों हो रही है। मृतका के पति चंद्रशेखर राय उर्फ बब्बू को पुलिस कई दिनों से लेकर हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस सूत्रों की मानें तो हिरासत में लिया गया पति बार-बार अपना बयान भी बदल रहा है। इसके चलते भी पुलिस किसी निर्णय तक नहीं पहुंच पा रही है। मादी-सिपाह में इस जघन्य हत्याकांड के पर्दाफाश के लिए फोरेंसिक जांच दल घटनास्थल पर कई घंटे डेरा डाल साक्ष्य संकलित की। बलरामपुर जनपद के प्राथमिक विद्यालय में सहायक अध्यापिका के पद पर तैनात रेखा अपने दो बच्चों हर्षित व अंश के साथ लखनऊ में रहती थीं। जबकि उनके पति चंद्रशेखर राय गांव रहते थे। दशहरे की पूर्व संध्या पर ही रेखा लखनऊ से मादी सिपाह पहुंची थी। इस मामले में पुलिस ने संदिग्ध मानते हुए पति को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। पूछताछ का आलम यह रहा कि पांच दिन से लगातार पूछताछ में पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी। ऐसे में किसी राजनीतिक दबाव से भी इंकार नहीं किया जा सकता।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप