जागरण संवाददाता, वलीदपुर (मऊ) : प्राइवेट आइटीआइ वेलफेयर एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के आह्वान पर जनपद इकाई के बैनर तले प्रबंधकों ने सोमवार को अपने विद्यालयों में तालाबंदी कर अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी। अपनी आठ सूत्रीय मांगों को लेकर मुहम्मदाबाद गोहना के उपजिलाधिकारी निरंकार सिंह को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। चेतावनी दिया कि यदि मांगे पूरी न हुईं तो पूरे प्रदेश में तालाबंदी कर धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य होंगे। ये हैं प्रमुख मांगें

-निजी आइटीआइ प्रशिक्षणार्थियों के लिए एक ही पोर्टल संचालित किया जाए। वर्तमान में राज्य एवं केंद्र के दो पोर्टल संचालित है जिसमें अनेक कमियां हैं।

-परीक्षार्थियों की प्रयोगात्मक परीक्षा के अंक निजी आइटीआइ के लागइन से ही परीक्षक द्वारा पोर्टल पर अंकित कराया जाय।

-आइटीआइ छात्रों का रिजल्ट समय से जारी होना चाहिए तथा रिजल्ट के अभाव में छूटे छात्रवृत्ति फार्म के लिए पुन: पोर्टल खोला जाए।

-निजी आइटीआइ के परीक्षार्थियों के नाम पिता के नाम एवं जन्म तिथि में संशोधन की अनुमति संबंधित प्रधानाचार्य/ नोडल अधिकारी को दी जाए।

-निजी आइटीआइ के लिए आनलाइन परीक्षा प्रणाली समाप्त की जाए। परीक्षार्थियों के पूरक परीक्षा के अंक अतिशीघ्र अपलोड कराए जाएं।

-निजी आइटीआइ की ग्रेडिग जांच होने के पश्चात भी स्थानीय प्रशासन द्वारा की जा रही जांच को रोका जाय।

-यदि इन समस्याओं का समाधान न हो तो सभी आइटीआइ का संचालन सरकार स्वयं कराए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस