जासं, पुराघाट (मऊ) : कोपागंज थाना क्षेत्र के प्राथमिक पाठशाला सहरोज के सामने शुक्रवार को तालाब के किनारे झोले में पड़ी रोती नवजात मिली। बरसात के मौसम में तालाब के किनारे से बच्चे की रोने की आवाज आते ही लोगों ने जाकर देखा तो बच्ची बरसात की बूंदों से आहत रो रही थी। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष विनय कुमार सिंह ने बच्ची को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जहां चिकित्सकों तथा महिला पुलिस के देखरेख में रखने के बाद जिला बाल कल्याण समिति को सुपुर्द कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जिस झोले में शिशु को रखा गया था उस पर इकबाल अहमद वस्त्र विक्रेता जायसवाल कटरा ठठेरी गली लिखा हुआ था। इस घटना ने जहां शासन की मंशा बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओ अभियान को ठेंगा दिखाया तो वहीं पूरी मानवता को शर्मसार करती घटना की पूरे दिन क्षेत्र में चर्चा होती रही। समाज में एक ओर जहां बेटियां देश-विदेश में अपना व परिवार का नाम रोशन कर रहीं हैं। ऐसे में यह घटना शर्मसार कर देने वाली है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस