जागरण संवाददाता, मऊ : बढ़ती महंगाई बेरोजगारी, निजीकरण और जनविरोधी कृषि कानून के खिलाफ वामपंथी दलों और जन संगठनों ने गाजीपुर तिराहा से जिला मुख्यालय तक मार्च किया। इसके बाद राज्यपाल को संबोधित सात सूत्रीय मांग पत्र जिलाधिकारी को सौंपा गया।

इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि महंगाई ने आज हम सबको अधमरा कर दिया है। इसकी वजह सरकार की पूंजीपरस्त नीतियां हैं। जब पूरी दुनिया में कच्चे तेल का दाम ठहराव की स्थिति में है उस समय जिस रफ्तार से भारत में पेट्रोल डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है वह कुछ दिनों में डेढ़ सौ रुपये लीटर तक पहुंच जाएगा। भाजपा सरकार पेट्रोल-डीजल पर वैट एक्साइज ड्यूटी बढ़ाकर जनता की जेब पर डाका डालने का काम कर रही है। केंद्र सरकार की गलत नीतियों के कारण जमाखोरी पर लगाम ढीली हो चुकी है।

सरसों का तेल, दाल, टमाटर, प्याज और अन्य सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। आम पब्लिक तबाह है। प्रदर्शन में अनुभव दास, रामसोच यादव, अजीम खान, बसंत कुमार, राम कुमार भारती, रामजी सिह,शेर मोहम्मद, शिवमूरत, धनराज सेठी,शिवाकांत मिश्र शामिल थे।

Edited By: Jagran