जागरण संवाददाता, बोझी (मऊ) : जिलाधिकारी के आदेश के बावजूद फोरलेन का भुगतान नहीं होने से आक्रोशित दर्जनों किसानों ने सोमवार को गोरखपुर-वाराणसी राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित टिकरी बुजुर्ग (अहिरानी) गांव के पास प्रदर्शन किया और जमकर नारेबाजी की। चेतावनी दी कि अगर जल्द उनके मुआवजे का भुगतान नहीं किया गया तो वह आंदोलन को बाध्य होंगे।

अहिरानी पेट्रोल पंप के पास टिकरी बुजुर्ग गांव के चार दर्जन किसानों ने फोर लेन का मुआवजा के लिए जिलाधिकारी के यहां गुहार लगाई थी। इसके बाद बीते 19 मई को अंतिम पैरा संशोधन किया गया। इसमें जिलाधिकारी के आदेश पर चार हजार रुपया प्रति वर्ग मीटर की दर से समस्त संबंधित पत्रावलियों पर आवश्यक कार्यवाही का निर्देश 23 मई को दिया था। इसके बाद 25 किसानों के खातों में लगभग 25 करोड़ आ गया। इसके बाद किसानों का खाता सीजकर सारा पैसा वापस ले लिया गया और एनएचआई ने दीवानी न्यायालय में आपत्ति दाखिल कर दी। इसके विरोध में देवब्रत यादव, कमलाकांत यादव, चंद्रभान, दीपचंद गुप्ता, बबन, सरवन, सेवक, शिवचंद, साहब, गोविद, धर्मेंद्र, वीरेंद्र, संतोष, जिउती, फुलेसरी, रमावती, चंदरमी, रामकेवल, लालजी, त्रिवेणी आदि ने संशोधित रेट से मुआवजे की मांग की। चेतावनी दी कि अगर संशोधित रेट पर भुगतान नहीं होगा तो वह लोग आंदोलन को बाध्य होंगे। अब दूसरी तरफ ठेकेदार जबरदस्ती बिना मुआवजे के निर्माण कार्य करवा रहा है। इसे लेकर किसान आक्रोशित हो गए और राजमार्ग जाम कर प्रदर्शन किया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस