जागरण संवाददाता, कोपागंज (मऊ) : भातकोल मोड़ से घोसी की ओर बढ़ते ही हाईवे से हिकमा गांव जाने वाली सड़क पर भदसा मानोपुर कोल्हाड़ गांव के पास लगभग एक माह से अधिक समय से बिजली के तारों को पोल से जोड़कर सड़क पर ही छोड़ दिया गया था। उलझे तारों के पशुओं के पैरों में लगकर सड़क के बीच आ जाने से अक्सर दुर्घटनाएं हो रही थीं। जागरण में प्रमुखता से इसकी खबर प्रकाशित होने के बाद शनिवार को बिजली विभाग की ओर से तार जोड़ने का प्रयास शुरू कर दिया।

बता दें भदसामानोपुर गांव में विद्युतीकरण कार्य किया जा रहा था। इसके लिए नया ट्रांसफार्मर लगाया गया है। ट्रांसफार्मर हिकमा जाने वाली सड़क पर ही है। यहीं से गुजर रहे 11 हजार वोल्ट के तार से नई लाइन शुरू करने के लिए तार बिछाने का कार्य चल रहा था, इसी बीच खंभे से नीचे गिर कर एक संविदा लाइनमैन घायल हो गया। इसके बाद काम बंद हो गया और तारों को कुछ खंभे में लगा और कुछ सड़क पर ही गिरा छोड़ दिया गया। इसके चलते कई लोग दुर्घटना का शिकार होकर चोटिल हुए। बहरहाल, तार को जुड़ता और खतरे को टलता देख ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। बता दें कि भदसा के पूर्व प्रधान रामचंद्र राय ने इसके लिए विभागीय अधिकारियों को पत्रक भी दिया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस