जागरण संवाददाता, मऊ : जिले के बुनकरों के बिजली का बिल न जमा करने को प्रदेश के शीर्ष ऊर्जा प्रबंधन से जुड़े अधिकारियों ने बेहद गंभीरता से लिया है। बीते जनवरी माह से ही बुनकरों को दी जाने फ्लैट रेट बिजली की सुविधा समाप्त कर दी गई है, लेकिन तब से अब तक लगभग 18000 बुनकर उपभोक्ता बिजली का बिल ही जमा करने नहीं आए। वसूली के लिए उच्चाधिकारियों का लगातार दबाव बढ़ने के बाद जिले के विद्युत वितरण खंड एक के अधिशासी अभियंता सुबोध कुमार ने अपने डिवीजन के 18 हजार बुनकरों के खिलाफ कार्रवाई के लिए कमर कसनी शुरू कर दी है। फिलहाल सबको आरसी भेजकर विद्युत कनेक्शन काटने की तैयारी की जा रही है।

अधिशासी अभियंता सुबोध कुमार ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान भी शहर के पावरलूम से ऊर्जा की खपत का सिलसिला बना रहा। विद्युत वितरण खंड एक से नगर पालिका परिषद व अदरी-अरदौना से लगभग 18 हजार बुनकर जुड़े हुए हैं। जनवरी माह में बुनकरों के फ्लैट रेट की सुविधा समाप्त हो गई। अब बुनकरों को पूरा बिल जमा करना होगा। प्रतिलूम बुनकरों को केवल 120 यूनिट तक कामर्शियल चार्ज में कुछ छूट दी जाएगी। उसके बाद की यूनिट पर कामर्शियल चार्ज पूरा का पूरा लिया जाएगा। कहा कि जनवरी से जुलाई माह के पहले सप्ताह तक कोई बुनकर बिल ही जमा करने नहीं आया है। इससे विभागीय बकाया बढ़ता जा रहा है। वहीं, 14 हजार नान बुनकर उपभोक्ता अपने बिल का समय से भुगतान कर रहे हैं। इनसेट :

दो ट्रांसफार्मर जले

मऊ : अदरी और अरदौना में दो ट्रांसफार्मरों के जलने से हाहाकार मचा हुआ है। धान की रोपाई के ऐन वक्त पर बिजली गायब रहने से किसानों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अधिशासी अधिकारी सुबोध कुमार ने कहा कि जल्द ही ट्रांसफार्मर ठीक कराकर लगा दिया जाएगा।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप