जागरण संवाददाता, मऊ : शारदीय नवरात्र के पांचवे दिन मां स्कंदमाता की पूजा अर्चना की गई। बुधवार को शहर के शीतला धाम मंदिर पर सुबह से ही श्रद्धालुओं का रेला शुरू हुआ जो देर शाम तक चलता रहा। इसके अलावा जनपद के अन्य देवी मंदिर भी पूरी तरह गुलजार हैं। यहां घंटा-घड़ियाल की गूंज से पूरा माहौल ही देवीमय हो गया है। मां के दरबार को दुल्हन की तरह सजाया गया है। चौतरफा धूप-अगियारी के सुगंध से माहौल पूरी तरह से भक्तिमय नजर आ रहा है। मां के मंदिरों के अगल-बगल सजाई गईं पूजा सामग्रियों की दुकानें बरबस लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रही हैं। सभी मंदिरों पर शारीरिक दूरी का जहां पालन कराया गया है वहीं बिना मास्क के श्रद्धालु दर्शन पूजन नहीं कर रहे हैं। कमेटी के लोग भक्तों से बड़ी शालीनता से शारीरिक दूरी का पालन करवा रहे हैं और भक्त भी मां के दरबार में मत्था टेक कर कोरोना से मुक्ति की दुआएं मांग रहे हैं।

शीतला माता मंदिर के पुजारी दीपक महाराज ने बताया कि बुधवार को मां के पांचवे स्वरूप स्कंदमाता की अराधना की गई। देवी का यह स्वरूप नारी शक्ति और मातृ शक्ति का सजीव चरित्र है। स्कंदकुमार की माता होने के कारण इनका नाम स्कंदमाता पड़ा। गणेश जी देवी के मानस पुत्र हैं और कार्तिकेय जी गर्भ से उत्पन्न। तारकासुर को वरदान था कि वह शंकर जी के शुक्र से उत्पन्न पुत्र द्वारा ही मृत्यु को प्राप्त हो सकता है। इसी कारण देवी पार्वती का शंकर जी से मंगल परिणय हुआ। इससे कार्तिकेय पैदा हुए और तारकासुर का वध हुआ। शंकर-पार्वती के मांगलिक मिलन को सनातन संस्कृति में विवाह परंपरा का प्रारंभ माना गया। कन्यादान गर्भधारण इन सभी की उत्पत्ति शिव और पार्वती प्रसंगोपरांत हुई। बुधवार को सुबह से ही विभिन्न मंदिरों पर श्रद्धालुओं का रेला लगा रहा। सुबह से ही भक्त मंदिरों में पहुंचकर पूजन अर्चन शुरू कर दिए थे। इस दौरान धूप-अगियारी, नारियल चढ़ाकर मत्था टेका और मां से कुशलता की दुआएं मांगी। इस दौरान घंटा-घड़ियाल की गूंज से पूरा माहौल ही देवीमय हो गया है। घर-घर में कलश स्थापना कर मां का पूजन अर्चन शुरू कर दिया गया है। मां वनदेवी धाम, शीतला माता मंदिर, आजमगढ़ मोड़ स्थित मां सिद्धेश्वरी मंदिर, फातिमा मोड़ तथा रोडवेज स्थित दुर्गा मंदिरों का दृश्य अलग ही छटां बिखेर रहा है। सभी मंदिरों में शारीरिक दूरी का पूरी तरह से पालन कराया जा रहा है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021