जागरण संवाददाता, मुहम्मदाबाद गोहना/वलीदपुर (मऊ) : कोतवाली थाना क्षेत्र के आजमगढ़-मुहम्मदाबाद गोहना मुख्य मार्ग स्थित बरहदपुर गांव के मौजा लंगरपुर में नवनिर्मित मकान में गोवंश काटकर ले जाने का प्रयास कर रहे तीन पशु तस्करों के विरुद्ध शनिवार को कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया है। इसमें से पुलिस ने गिरफ्तार एक आरोपित को जेल भेज दिया।

गोकशी की यह घटना शुक्रवार की रात करीब आठ बजे की है। गांव में कस्बा के बरईपुर मोहल्ला निवासी जयसिंह का एक नवनिर्मित मकान है। इसमें शुक्रवार की रात आठ बजे गो-तस्कर वहां गोकशी कर मांस ले जाने का प्रयास कर रहे थे। इसी दौरान मकान मालिक वहां सोने आ गया। कुछ गतिविधियां देखकर जब अंदर गये तो वहां से कुछ लोग बाहर भागने लगे। मकान स्वामी के शोर मचाने पर आसपास के लोगों ने दौड़कर एक गो तस्कर को पकड़ लिया। सूचना पर पुलिस उपाधीक्षक राजकुमार सिंह एवं कोतवाल शैलेश कुमार सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। इस बीच पूर्व चेयरमैन लालजी वर्मा और हिदू संगठनों से जुड़े कुछ अन्य लोग भी वहां पहुंच गए। मौके पर पहुंची पुलिस तीन तस्करों में से एक को पकड़ कर कोतवाली ले गई। उसने घटना में शामिल दो अन्य साथियों का नाम बताया। उधर, रात में ही उपमुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा. अमित कुमार सिंह को मौके पर बुलाया गया। चिकित्सक द्वारा रात में ही परीक्षण किया गया और पुलिस की देख रेख में अवशेष को वहीं दफन कर दिया गया। इस संबंध में मकान मालिक के परिवार के भोलू की तहरीर पर बनियापार गांव निवासी कासिम और हाशिम पुत्र गफ्फर तथा आजमगढ़ के मुबारकपुर थानाक्षेत्र के गोंछा निवासी आसिफ पुत्र सगीर के खिलाफ गोवध अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। कासिम को जेल भेज दिया गया है। घटना में शामिल अन्य की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है।

Edited By: Jagran