जागरण संवाददाता, मऊ : नगर में बिजली आपूर्ति को निर्बाध रूप से संचालित करने के लिए अंडरग्राउंड केबिल लगाई गई है। बिजली विभाग की लापरवाही और देखरेख के अभाव में अधिकतर बाक्स जर्जर हो चुके हैं। कुछ जगहों पर तो बाक्स के टूटने से तार बाहर आ चुके हैं। इससे कभी भी हादसा हो सकता है। बारिश का मौसम भी दस्तक दे चुका है। ऐसे में टूटे बाक्स और जर्जर तार दुर्घटना को दावत दे रहे हैं।

बिजली सप्लाई के लिए खुले तारों से निजात के लिए अंडरग्राउंड केबिल लगाई गई थी। इसके लिए कुछ पोल पर जहां से बिजली की सप्लाई दी गई थी, वहां बाक्स लगाए गए थे। अब वह पूरी तरह जर्जर हो चुके हैं। कई बाक्स तो ऐसे है कि उनसे बिजली के सभी तार बाहर आ चुके हैं जबकि कुछ पर घास जम चुकी है। इससे आए दिन लोगों को फाल्ट की समस्या से दो चार होना पड़ता है। नगर के गाजीपुर तिराहा, सहादतपुरा, नई बस्ती मुंशीपुरा, निजामुद्दीनपुरा, छोटी रहजनिया सहित एक दर्जन से भी अधिक स्थानों पर बाक्स खराब हो चुके हैं। मई माह के अंत में हुई जोरदार बारिश के कारण सहादतपुरा मुहल्ले में एक पोल का बाक्स खराब होने से करेंट पानी में उतर आया। इसकी चपेट में एक युवक भी आ गया था। अब बारिश का मौसम भी सामने है, लेकिन शिकायत के बाद भी बिजली विभाग मौन है।

-----------------------

अंडरग्राउंड बिजली के लिए लगाए गए बाक्स के जर्जर होने की जानकारी नहीं है। नगर क्षेत्र में जहां भी बाक्स खराब और खुले है उनको जल्द सही कराया जाएगा।

- एके सरोज, अधीक्षण अभियंता बिजली विभाग

Edited By: Jagran