जागरण संवाददाता, घोसी (मऊ) : जिला विकास अधिकारी विजय शंकर राय ने ब्लाक सभागार में मनरेगा एवं स्वच्छ भारत मिशन की प्रगति लक्ष्य से काफी पीछे होने पर ग्राम पंचायत व विकास अधिकारियों पर कड़ी नाराजगी जताई। बैठक के उपरांत तीन गांवों के निरीक्षण के दौरान पारा चढ़ गया जब कार्य की गुणवत्ता मानक के विपरीत मिली और स्थल पर बोर्ड नहीं नहीं लगा पाया गया। उन्होंने दो दिनों में हरेक कार्यस्थल पर बोर्ड लगाए जाने एवं हरेक आवश्यक जानकारी अंकित किए जाने का कड़ा निर्देश दिया।

ब्लाक सभागार में ग्राम पंचायत कर्मचारियों, तकनीकी सहायकों एवं रोजगार सेवकों की बैठक में डीडीओ श्री राय ने मनरेगा के तहत निर्धारित अनुपात में मानक के अनुसार पक्का एवं कच्चा कार्य कराए जाने को कहा। उन्होंने मानव दिवस सृजन में प्रगति निराशाजनक होने पर कारण मार्च 19 तक गत वर्ष के आंकड़े को पार करने को कहा। शौचालय निर्माण में तमाम ग्राम पंचायतों के फिसड्डी होने पर संबंधित कर्मचारी की क्लास लिया। बैठक के उपरांत उन्होंने सरायगनेश, माछिल जमीन माछिल एवं माउरबोझ में मनरेगा के तहत कराए जा रहे कार्य का निरीक्षण किया। तीनों ही स्थानों पर सूचना पट्ट नदारद पाए जाने पर दो दिन में इसे पूर्ण विवरण के साथ लगाए जाने का निर्देश दिया। विकास कार्यों की गुणवत्ता पर सवाल उठाते हुए जिला विकास अधिकारी श्री राय ने सुधार लाए जाने की चेतावनी दी। बैठक में एडीओ पंचायत हृदयेश पांडेय, एपीओ मनीष गुप्ता, ग्राम पंचायत स्तरीय अधिकारी अनिल कुमार चौबे, बीडी पाठक, मंशा राम चौबे, राजेश कुमार, राकेश सिंह, अरूण सिंह, संजय यादव, राधेश्याम, आयुष शाही, दीप्ति पांडेय, स्नेहा मौर्य, रानी यादव एवं दीपिका राय आदि उपस्थित थीं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस